February 7, 2023

डेस्टिनेशन वेडिंग का हब बन रहा है उत्तराखंड, आप भी आइए और करिए स्नो वेडिंग

देश में डेस्टिनेशन वेडिंग का चलन बढ़ रहा है और अब उत्तराखंड योजनाकारों की पसंद बनता जा रहा है। दूसरे देशों और राज्यों में रहने वाले युवा जोड़े हिमालय की वादियों में सात फेरे लेने के लिए उत्तराखंड पहुंच रहे हैं।

राज्य के कई पौराणिक स्थलों पर करिए अपनी शादी

आपकी शादी को यादगार बनाने के लिए राज्य के पास सभी सुविधाएं हैं, और यह बहुत महंगा भी नहीं है। ऋषिकेश, देहरादून, औली, नैनीताल, मुक्तेश्वर और रामगढ़ जैसे इलाके डेस्टिनेशन वेडिंग के क्षेत्र में नई पहचान बना रहे हैं।

राज्य सरकार भी स्नो वेडिंग को बढ़ावा दे रही है, जिससे राज्य में स्नो वेडिंग का चलन शुरू हो गया है। देश के कई क्षेत्रों से युवा अपनी शादी को अविस्मरणीय बनाने के लिए उत्तराखंड आ रहे हैं। यहां वे बर्फबारी के बीच सात फेरे ले सकते हैं।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने पर्यटकों से नए साल की शुरुआत उत्तराखंड से करने का आग्रह किया। उत्तराखंड में कब और कहां बर्फबारी होगी पर्यटन विभाग लगातार मौसम विभाग से समन्वय कर रहा है। इसकी जानकारी ले रहे हैं।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि नैनीताल, अल्मोड़ा, मसूरी और औली सहित विभिन्न स्थानों जैसे त्रियुगीनारायण में शादी करने वाले लोग लगातार संपर्क कर रहे हैं और बर्फबारी की जानकारी ले रहे हैं. मौसम ने साथ दिया तो पर्यटक आने वाले दिनों में कई पर्यटन स्थलों पर बर्फबारी का लुत्फ उठा सकते हैं।

देहरादून, मसूरी, धनोल्टी, चकराता, औली, लैंसडाउन, नैनीताल, मुक्तेश्वर, कौसानी, रानीखेत, टिहरी झील, ऋषिकेश, नई टिहरी ऐसे प्रमुख स्थान हैं जहां हर साल देश-विदेश से पर्यटक नववर्ष मनाने आते हैं। इस बार भी नए साल में बड़ी संख्या में पर्यटकों के उत्तराखंड पहुंचने की उम्मीद है।

आपको बता दें कि आने वाले दिनों में शादी के कई शुभ मुहूर्त हैं और इसके लिए युवा जोड़ों ने उत्तराखंड की खूबसूरत वादियों को अपने वेडिंग डेस्टिनेशन के तौर पर चुना है। दिल्ली, गाजियाबाद, मुंबई आदि शहरों से कई कपल्स ने शादी समारोह के लिए मुक्तेश्वर और भीमताल के पास स्थित रिजॉर्ट में बुकिंग कराई है।

होटल व्यवसायियों ने बताया कि शादी के इच्छुक जोड़े चाहते हैं कि उनके फेरे ऐसी जगह हों, जहां से हिमालय नजर आता हो या फिर बर्फबारी होती हो. कुछ जोड़े झील के किनारे सात फेरे लेने की ख्वाहिश रखते हैं। कई जोड़े ऐसे भी हैं जो यहां उत्तराखंडी रीति-रिवाज से शादी करने पहुंच रहे हैं।

Vaibhav Patwal

Haldwani news

View all posts by Vaibhav Patwal →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *