Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / इस यात्रा सीजन बद्रीनाथ की हुई चांदी, दानपेटी में आये 60 करोड़ से सवरेगी शीतकालीन आवास का नज़ारा

इस यात्रा सीजन बद्रीनाथ की हुई चांदी, दानपेटी में आये 60 करोड़ से सवरेगी शीतकालीन आवास का नज़ारा

चारधाम यात्रा का हर मौसम। यात्रा हर बार नया रिकॉर्ड बना रही है। कई भक्तों ने राज्य के मंदिरों में इतना सोना और नकदी दी कि मंदिर समिति की तिजोरी भर गई। हर साल चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या लाखों में होती जा रही है, वहीं उनसे मिलने वाला चंदा करोड़ों में है।

केदारनाथ बद्रीनाथ मंदिर समिति करेगी शीतकालीन आवास का पुनर्निर्माण

इस बार भी तीर्थयात्रियों ने बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम को 60 करोड़ का दान दिया ।इतना ही नहीं महाराष्ट्र के एक दानवीर ने केदारनाथ धाम के गर्भगृह को सोने से मढ़वाया। यात्रा अवधि की समाप्ति के बाद, समिति अपना ध्यान शीतकालीन पूजा स्थलों के उचित प्रबंधन और विकास पर केंद्रित कर रही है।

बदरीनाथ-केदारनाथ यात्रा को लेकर पर्यटकों द्वारा दिखाए गए उत्साह पर श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति को गर्व है। समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने बताया कि इस बार 1763549 तीर्थयात्री बदरीनाथ और 1563275 तीर्थयात्री केदारनाथ पहुंचे।

पिछले सीजन में दोनों धामों के दर्शन करने वाले तीर्थयात्रियों की कुल संख्या 33.26 लाख थी। जिससे दोनों धामों में 60 करोड़ की राशि दान के रूप में प्राप्त हुई। जोशीमठ कार्यालय में मीडिया से बातचीत के दौरान अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने कहा कि बदरीनाथ धाम को सबसे ज्यादा चंदा मिला है.

इस वर्ष बदरीनाथ धाम को 34.5 करोड़ की आय हुई, जबकि वर्ष 2019 में धाम को 27 करोड़ की आय हुई। इसी तरह केदारनाथ धाम को इस बार 25.5 करोड़ की आय हुई, जबकि साल 2019 में 17.5 करोड़ की कमाई हुई थी. अब बद्री-केदार मंदिर समिति का पूरा ध्यान शीतकालीन पूजा स्थलों के समुचित प्रबंधन और विकास पर है।

बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम के इन पूजा स्थलों में निर्माण कार्य चल रहा है। बदरी मंदिर पांडुकेश्वर में भगवान बद्री नारायण के शीतकालीन गद्दीनशीन जोशीमठ स्थित नरसिंह बद्री मंदिर, पार्किंग व योग-ध्यान के सौंदर्यीकरण का कार्य किया जा रहा है।

इसी तरह केदारनाथ धाम में भगवान ईशानेश्वर मंदिर का निर्माण कार्य किया जा रहा है। शीतकालीन पीठ ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ के विस्तार पर भी काम चल रहा है। ताकि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सेवाएं मिल सकें।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news