Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / आंख में आंसू ला देगा ये वीडियो: नाइजीरिया द्वारा बंधक बांये अल्मोड़ा के युवक और उसके दोस्तों का मोदी ही आखिरी सहारा

आंख में आंसू ला देगा ये वीडियो: नाइजीरिया द्वारा बंधक बांये अल्मोड़ा के युवक और उसके दोस्तों का मोदी ही आखिरी सहारा

उत्तराखंड के कई युवा विदेश में नौकरी करने का सपना देखते हैं और इसके लिए वे खूब पढ़ाई करते हैं और नौकरी पाते हैं। कई ऐसे हैं जिन्होंने मर्चेंट नेवी और होटल में अपने परिवारों का समर्थन करने के लिए काम किया, उन्हें दक्षिण अफ्रीका में हिरासत में ले लिया गया।

फंसे हुए युवक को P.M. मोदी ही बचे आखिरी सहारा

गिनीयन नेवी ने भारतीय क्रू के करीब 16 लोगों समेत मर्चेंट नेवी में कार्यरत 26 युवकों को हिरासत में लेकर रखा है, जिनमें से दो युवक उत्तराखंड के हल्द्वानी और देहरादून के रहने वाले हैं. हिरासत में लिए गए लोगों पर तेल चोरी का आरोप है।

जब से परिवार वालों को उनके हिरासत में लिए जाने की सूचना मिली है, तब से उनका हाल बेहाल है. परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है. हिरासत में लिए गए लोगों में सौरभ की पत्नी शोभा ने अफसोस जताया कि जल्द ही गिनी की नौसेना हिरासत में लिए गए।

गिनी में फंसे भारतीय क्रू एजेंटों के दिन दिन पर दिन खराब होते जा रहे हैं। इसी बीच वहां फंसे एक क्रू एजेंट का दिल को छू लेने वाला वीडियो भी सामने आया है, जिसमें युवा रोते-बिलखते पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाते नजर आ रहे हैं।

वीडियो में युवक यह कहते नजर आ रहे थे कि अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही हमें बचा सकते हैं। क्रू भी लोगों से अनुरोध कर रहा है कि वीडियो को शेयर करें ताकि यह पीएम नरेंद्र मोदी तक पहुंच सके, ताकि उन सभी को दक्षिण अफ्रीका से निकाल कर अपनी मातृभूमि भारत वापस लाया जा सके।

रोते हुए युवकों ने कहा कि उनके जहाज को नाइजीरिया ने अपने कब्जे में ले लिया है और आज उन्हें भी नाइजीरिया को सौंपा जा रहा है. इसके बाद हमारा क्या होगा, हम नहीं जानते। आज के बाद हम कोई अपडेट या वीडियो नहीं बना सकते, क्योंकि हमारे फोन भी ले लिए जाएंगे। युवाओं और उनके परिवारों ने उत्तराखंड और भारत सरकार से अपने वतन लौटने की अपील की है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news