Breaking News
Home / देहरादून न्यूज़ / डूबते बंदर का सहारा बने हनुमान जी, तेज धार में रातभर मूर्ति से चिपका बैठा रहा बेजुबान….

डूबते बंदर का सहारा बने हनुमान जी, तेज धार में रातभर मूर्ति से चिपका बैठा रहा बेजुबान….

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से एक अनोखे और खास रेस्क्यू की तस्वीरें सामने आई हैं. यह बचाव किसी इंसान का नहीं, बल्कि एक बंदर का किया गया है. दरअसल जिले के मुरादनगर स्थित गंग नहर में एक बंदर किसी तरह गिर गया. पानी के तेज बहाव में वह तेजी से बहता चला गया. लेकिन अपनी जान बचाने के लिए बेजुबान पानी के बहाव से बाहर जाने का छटपटाता रहा, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली. देखते ही देखते तेज धार में बंदर गंग नहर के बीच में पहुंच गया और यहां स्थापित भगवान शिव और हनुमान जी मूर्ति तक पहुंच गया. इसी बीच गंग नहर के बीच में स्थापित हनुमान जी की प्रतिमा बंदर के लिए सहारा बन गई. बंदर ने किसी तरह प्रतिमा के किनारे को पकड़े बैठा रहा और अपनी जान बचाने की जद्दोजहद में जुटा रहा. हालांकि, स्थानीय अब इसको इसको लेकर अलग-अलग चर्चा करते नजर आए. लोग इसे चमत्कार बता रहे हैं. बताया जा रहा है कि रात भर बंदर वहीं पर हनुमान जी की प्रतिमा से लिपट कर बैठा रहा. सुबह होने पर पानी के बीच फंसे इस बंदर को स्थानीय लोगों और वहां तैनात कुछ पुलिसकर्मियों ने देखा, जिसके बाद उन्होंने एक नाव के जरिए उसका रेस्क्यू कर बन्दर की जान बचाई.  हालांकि, घटना से जुड़ा वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. बंदर के हनुमान जी की प्रतिमा से चिपके रहकर जान बचाने को लोग चमत्कार मान रहे हैं. चर्चा यह भी है कि बंदर पानी के अंदर हनुमान जी की पूजा करने के लिए पानी के तेज बहाव की परवाह न करते हुए पहुंच गया और वहां फंस गया. घटना और रेस्क्यू की वीडियो और तस्वीरें आपके सामने हैं.

हनुमानाच्या मुर्तीमुळे नदीत बुडणाऱ्या माकडाचा वाचला जीव; पाहा व्हिडिओ

गाजियाबाद गाझियाबादमध्ये नदीत पडलेल्या माकडाच्या जीव हनुमानाच्या मूर्तीमुळे Hanuman statue saved monkey life वाचला.नदीच्या मधोमध असलेल्या खांबावर हनुमानाची मूर्ती बसवली आहे. माकड नदीमध्ये पडताच जोरदार प्रवाहात वाहू Monkey Drowning In River लागले. सुदैवाने माकड तेथे पोहोचले. मूर्तीचा आधार घेऊन माकड भरपूर वेळ तिथेच थांबले. हे पाहताच काही लोकांनी त्याचा व्हिडिओ Viral Video of Monkey  बनवला. तो व्हायरल केला. त्यानंतर पोलिसांनी माकडाला पाणयाबाहेर काढले Police Pulled Monkey Out Of Water ही घटना रविवारी घडली. गंगनहर में तेज बहाव के बीच डूबते बंदर का सहारा भगवान हनुमान की मूर्ति बनी। गंगनहर में पिलर पर स्थापित हनुमान की मूर्ति को पकड़कर बंदर रातभर बैठा रहा। पूरा मामला गाजियाबाद जिले के मुरादनगर गंगनहर का है। गाजियाबाद जिले के मुरादनगर-गंगनहर में फंसे बंदर का सहारा भगवान हनुमान की मूर्ति बनी, जिसे पकड़कर वह बीच नहर में पूरी रात बैठा था। बताया जा रहा है कि बंदर पूरी रात हनुमान की मूर्ति के सहारे गंगनहर के बीच तेज बहाव में बैठ रहा। सुबह जब लोगों ने उसे देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस व मंदिर समिति के गोताखोरों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद बंदर को नहर से बाहर निकाला। पुलिस ने बताया कि रातभर गंगनहर के पानी में रहने की वजह से बंदर का शरीर ठंड से सिकुड़ गया। वह गंगनहर के बीच पिलर पर स्थापित हनुमना मूर्ति को पकड़कर बैठा था। ठंड की वजह से वह कांप रहा था। सुबह जब लोगों ने बंदर को इस हालत में देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस द्वारा बंदर का रेस्क्यू किया गया।

संकटमोचक बने हनुमान! गंगनहर में डूब रहे बंदर की ऐसे बचाई जान, देखें वीडियो….

गाजियाबाद (ghaziabad monkey rescue) की मुरादनगर में मौजूद गंग नहर में एक बंदर जा गिरा. बंदर ने पानी से निकलने की काफी कोशिश कीं लेकिन वो बाहर नहीं निकल सका. इसी बीच उसे नहर के बीच में मौजूद हनुमान जी मूर्ति नजर आई, जिससे वह लिपट गया. इस तरह संकटमोचन हनुमान जी ही इस बंदर का सहारा बने. घंटो तक ये बंदर प्रतिमा से चिपककर बैठा रहा. इसके बाद पुलिसकर्मियों ने रेस्क्यू ऑपरेशन कर बंदर को नहर से बाहर निकाल लिया. शनिवार शाम को गंग नहर में एक बंदर किसी तरह गिर गया। पानी के तेज प्रवाह में वह बह गया। अपनी जान बचाने के लिए वह किनारे पर जाने का प्रयास करता रहा लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। 21वीं सदी में भी चमत्कार होते हैं और दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी एक चमत्मकार के जरिये एक बंदर की जान बचने का मामला प्रकाश आया है। उसकी जान भगवान हनुमान के जरिये बची। लोग इसे चमत्कार के तौर पर देख रहे हैं। दरअसल, शनिवार शाम को मुरादनगर स्थित गंग नहर में एक बंदर अचानक गिर गया। इसके बाद पानी का बहाव तेज होने के चलते वह काफी दूर तक निकल गया। इस दौरान वह अपनी जान बचाने के लिए नहर के किनारे पर जाने का प्रयास तो करता रहा, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। हनुमान जी की प्रतिमा से लिपटकर बंदर ने बचाई जान. इसी बीच गंग नहर के बीच में स्थापित हनुमान जी की प्रतिमा बंदर के लिए सहारा बन गई। बंदर ने किसी तरह प्रतिमा के किनारे पर बैठ कर अपनी जान बचाई। अब लोग इसे चमत्कार बता रहे हैं। हैरत की बात यह भी है कि रात भर बंदर वहीं पर हनुमान जी की प्रतिमा से लिपट कर बैठा रहा। रविवार सुबह होने पर यह दृश्य कुछ पुलिसकर्मियों ने देखा। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से बंदर की जान बचाई गई।

 

 

About ads