Breaking News
Home / बॉलीवुड / आसान नहीं था सफर फिर भी हासिल किया मुकाम, पढ़िते भारत के पहले 5 स्टार रेटेड किन्नर कैब ड्राइवर की कहानी

आसान नहीं था सफर फिर भी हासिल किया मुकाम, पढ़िते भारत के पहले 5 स्टार रेटेड किन्नर कैब ड्राइवर की कहानी

हमारे समाज में कई तरह के लोग रहते हैं। यह हमारे देश की सबसे बड़ी खूबसूरती है कि देश में अलग-अलग तरह के लोगों के बाद भी हम सब साथ रहते हैं। लेकिन हमारे समाज में एक ऐसा समुदाय है, जो हम सब से बहुत अलग है। जी हां हम बात कर रहे हैं किन्नर समाज की।

 

आज हम आपको ट्रांसजेंडर समाज के इस अलग समुदाय की कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं और वे लोग एक ही समाज में अपना जीवन व्यतीत करते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे ही किन्नर के बारे में बताएंगे। जिसने अपने जीवन में कुछ ऐसा किया है जो सबके लिए है।

हम जिस किन्नर की बात कर रहे हैं उसका नाम रानी किन्नर है। जो पेशे से कैब ड्राइवर है। इतना ही नहीं, वह भारत की पहली ट्रांसजेंडर कैब ड्राइवर हैं, उन्हें 5 स्टार रेटेड ड्राइवर माना जाता है। लेकिन रानी के लिए यहां यात्रा करना आसान नहीं था।

उन्होंने कई वर्षों तक खड़ी मुसीबतों का सामना करने के बाद अपने जीवन में यह मुकाम हासिल किया है। आज हम आपको रानी के संघर्ष और सफलता की कहानी बताएंगे।

रानी ने 6 साल पहले यानी साल 2016 में ऑटो ड्राइवर बनकर ऑटो चलाना शुरू किया था। लेकिन उनके ऑटो में कोई नहीं बैठता था। जिससे वह काफी निराश और परेशान थी। उन्होंने कई महीनों तक ऑटो चलाया। लेकिन उनके ऑटो में कोई नहीं बैठता था।

जिसके बाद उन्होंने एंबुलेंस चलाना शुरू कर दिया। लेकिन एंबुलेंस चलाने के बाद भी रानी को ज्यादा पैसे नहीं मिले. जिसके बाद उसने सोचा कि वह अपने जीवन में कुछ ऐसा काम करेगी, जिससे वह अपनी जीविका चला सके।

एम्बुलेंस चलाने के बाद, रानी ने फैसला किया कि वह एक कैब की ड्राइवर बनेगी। जिसके बाद साल 2017 से उन्होंने कैब चलाना शुरू किया। जब उन्होंने कैप चलाना शुरू किया तो उन्हें संघर्ष करना पड़ा।

धीरे-धीरे लोग उसकी कैब में आने लगे। इतना ही नहीं लोगों ने उन्हें फाइव स्टार रेटिंग भी देना शुरू कर दिया और इस तरह रानी भारत की पहली ट्रांसजेंडर कैब ड्राइवर बन गईं।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news