Breaking News
Home / देहरादून न्यूज़ / हलाला, तीन तलाक में कब दिखाओगे बदलाव: आमिर खान के नए AD में हिंदू रीति-रिवाजों पर उठाया गया सवाल, विवेक अग्निहोत्री बोले- ‘फिर कहते हो हिंदू ट्रोल करते हैं’….

हलाला, तीन तलाक में कब दिखाओगे बदलाव: आमिर खान के नए AD में हिंदू रीति-रिवाजों पर उठाया गया सवाल, विवेक अग्निहोत्री बोले- ‘फिर कहते हो हिंदू ट्रोल करते हैं’….

आमिर खान और कियारा आडवाणी ने भले ही साथ में कोई फिल्म न की हो, लेकिन एक विज्ञापन में वो दोनों पति-पत्नी के रूप में साथ नजर आए हैं। ये विज्ञापन AU स्मॉल फाइनेंस बैंक के लिए शूट किया गया। चूँकि इसकी टैगलाइन थी- बदलाव हमसे है, इसलिए क्रिएटिविटी के नाम पर दिखाया गया कि शादी में अब लड़कों की विदाई उनके घरों से होनी चाहिए। विज्ञापन देखने के बाद सोशल मीडिया पर हिंदू भड़के हुए हैं। उनका कहना है कि बदलाव के नाम पर हिंदू रीति-रिवाज को क्यों चेंज करने पर जोर दिया जा रहा है। विज्ञापन में देख सकते हैं कि एक गाड़ी में दूल्हा (आमिर खान)-दुल्हन (कियारा आडवाणी) बिदाई के बाद घर जा रहे हैं। आमिर खान कहते हैं कि ये पहली बिदाई है जिसमें लड़की नहीं रोई। इसके बाद अगल सीन गृह प्रवेश का है। यहाँ आमिर पूछते हैं अंदर पहले कौन जाएगा? कियारा जवाब देती हैं कि जो नया है वो। आमिर कहते हैं यानी ‘मैं’। आगे गृह प्रवेश होता है और लड़की की जगह आमिर को घर में प्रवेश करते दिखाया जाता है। आखिर में संदेश दिया जाता है- सदियों से जो प्रथा चलती आ रही है, वो चलती है क्यों? तभी तो हम सवाल पूछते हैं बैंकिंग की हर प्रथा से ताकि आपको मिले बेस्ट सर्विक- AU बैंक- बदलाव हमसे है।इस एड को देखने के बाद कई लोगों ने इस पर आपत्ति जताई जिनमें से एक विवेक रंजन अग्निहोत्री भी हैं। उन्होंने कहा, “मैं समझ नहीं पा रहा हूँ कि आखिर बैंक कबसे सामाजिक और धार्मिक प्रथाओं में बदलाव लाने की जिम्मेदारी लेने लगे। मुझे लगता है कि AU बैंक को बैंकिंग की जगह एक्टिविज्म करना चाहिए। ऐसी बकवास करते हैं फिर कहते हैं कि हिंदू लोग ट्रोल करते हैं।” इस एड के बाद आमिर की वो वीडियो शेयर की जा रही है जिसमें उनसे ईद पर जानवरों की कुर्बानी देने पर सवाल पूछा गया था। आमिर ने यहाँ पर कहा था कि उन्हें लगता है कि मजहब बहुत ही पर्सनल मैटर है। सबकी अपनी भावनाएँ हैं। उनकी भी अपनी आस्था है। इसलिए वह दूसरों के बारे में कुछ नहीं कहना चाहते।इस बयान के साथ ये विज्ञापन दिखाकर कहा जा रहा है कि आमिर का पाखंडी चेहरा देखें। जब वो हिंदू धर्म का विज्ञापन करते हैं तो बदलाव सही है, पर मजहब पर बात आए तो कुछ नहीं कहना है।

आमिर खान को किसी की भावनाएँ आहत करने की इजाजत नहीं… भारतीय परंपराओं को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत करने से भावनाएँ |

बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान अपने नए विज्ञापन को लेकर विवादों में हैं। इस विज्ञापन में उनके साथ अभिनेत्री कियारा आडवाणी भी हैं। सोशल मीडिया पर इसका जमकर विरोध हो रहा है। इसी बीच मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस विज्ञापन को लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाला बताया है। उन्होंने आमिर खान को भारतीय परंपराओं को ध्यान में रखकर विज्ञापन करने की सलाह दी है। नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने बुधवार (12 अक्टूबर 2022) को कहा, “मैंने भी आमिर खान को एक निजी बैंक का विज्ञापन करते हुए देखा। इसके बारे में शिकायत मिलने के बाद ही मैंने इसे देखा। आमिर खान के इस तरह के भारतीय परंपरा, रीति-रिवाजों और देवी-देवताओं को लेकर विज्ञापन लगातार सामने आते रहे हैं। मैं इसे ठीक नहीं मानता हूँ।” उन्होंने आगे कहा, “विज्ञापनों और फिल्मों में भारतीय परंपराओं और रीति-रिवाजों को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत करने से धार्मिक भावनाएँ आहत होती हैं। फिल्म अभिनेता आमिर खान जी को भारतीय परंपराओं और रीति-रिवाजों को ध्यान में रखकर विज्ञापन करना चाहिए। उन्हें किसी की भी भावनाएँ आहत करने की इजाजत नहीं हैं।” जिस विज्ञापन पर बवाल चल रहा है, अब उसकी बात। एक बैंक के विज्ञापन में दिखाया गया है कि एक गाड़ी में दूल्हा (आमिर खान) और दुल्हन (कियारा आडवाणी) बिदाई के बाद घर जा रहे हैं। इस दौरान आमिर खान कहते हैं कि ये पहली बिदाई है, जिसमें लड़की नहीं रोई।
इसके बाद विज्ञापन का अगला सीन गृह प्रवेश का है। यहाँ आमिर पूछते हैं अंदर पहले कौन जाएगा? कियारा जवाब देती हैं कि जो नया है वो। आमिर कहते हैं यानी ‘मैं’। आगे गृह प्रवेश होता है और लड़की की जगह आमिर को घर में प्रवेश करते दिखाया जाता है। आखिर में संदेश दिया जाता है – “सदियों से जो प्रथा चलती आ रही है, वो चलती है क्यों? तभी तो हम सवाल पूछते हैं बैंकिंग की हर प्रथा से ताकि आपको मिले बेस्ट सर्विस- AU बैंक- बदलाव हमसे है।”


ऐसी बकवास करते हैं, फिर कहते हैं हिंदू ट्रोल कर रहे हैं’…आमिर खान के नए एड पर फूटा लोगों का गुस्सा…

आमिर खान और कियारा आडवाणी पहली बार एक बैंक के टीवी विज्ञापन में साथ नजर आए। हालांकि, आमिर और कियारा के साथ इस विज्ञापन को भी कथित रूप से “हिंदू भावनाओं को आहत करने” के लिए सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना करना पड़ा। ये विज्ञापन जल्द ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और कई नेटिज़न्स ने इसकी जमकर आलोचना की। कुछ यूजर्स ने आमिर और कियारा के बीच उम्र के अंतर को लेकर भी सवाल उठाया और उन्हें एक शादीशुदा जोड़े के रूप में दिखाने के लिए भी विज्ञापन को ट्रोल किया। लोग ये सवाल भी पूछ रहे हैं कि ऐसे विज्ञापनों के लिए केवल हिंदू धर्म को ही क्यों चुना जाता है। विज्ञापन बनाने वालों ने निकाह को दिखते हुए इस तरह के विज्ञापन बनाने की हिम्मत क्यों नहीं की। कई इंटरनेट यूजर्स के बीच, ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने भी विज्ञापन की खिंचाई की। उन्होंने लिखा, “मैं यह समझने में असफल रहा कि बैंक कब से सामाजिक और धार्मिक परंपराओं को बदलने के लिए जिम्मेदार हो गए हैं? मुझे लगता है कि @aubankindia को भ्रष्ट बैंकिंग प्रणाली को बदलकर एक्टिविज्म करना चाहिए। ऐसी बकवास करते हैं फिर कहते हैं हिंदू ट्रोल कर रहे हैं। बेवकूफ।” विज्ञापन की शुरुआत कियारा आडवाणी और आमिर खान के साथ होती है, जो दूल्हा और दुल्हन के रूप में कार में बैठे हैं और यह बात करते हुए कि वह अपनी ‘बिदाई’ के दौरान नहीं रोई। विज्ञापन में आमिर के ‘घर जमाई’ बनने और कियारा के परिवार द्वारा स्वागत किए जाने का संकेत दिया गया है। बाद में, कियारा के पिता को व्हीलचेयर में दिखाया गया है।

About ads