February 6, 2023

अगले दो दिन भारी से भारी बारिश की चेतावनी, उत्तराखंड में रोके गए पर्वतारोहण अभियान

उत्तराखंड में मानसून के विदा होने का समय शुरू हो गया है, लेकिन अभी भी मानसून के जाने के बाद उत्तराखंड में कहर बरपाने ​​वाला है। मानसून पूरी तरह से जाने से पहले अपना मिजाज दिखा सकता है। 7 अक्टूबर को बहुत भारी बारिश के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है।

कुमाऊं के सभी जिलों में आफत बन सकती है बारिश

वहीं मौसम विभाग ने कुमाऊं संभाग के पर्वतीय जिलों और गढ़वाल संभाग के पर्वतीय जिलों में 6 से 8 अक्टूबर तक राज्य में भारी से बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने 7 अक्टूबर को बहुत भारी बारिश के लिए पहले ही रेड अलर्ट जारी कर दिया था। इस दौरान नदियों और नालों में बाढ़ और पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन की चेतावनी भी है। इसके साथ ही लोगों को कुछ दिनों तक पर्वतारोहण न करने की सलाह दी गई है। 7 अक्टूबर को उत्तराखंड के कुमाऊं संभाग के जिलों और गढ़वाल संभाग के आसपास के जिलों में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

संवेदनशील इलाकों में कहीं-कहीं भूस्खलन और चट्टान गिरने की भी खबर है। भारी बारिश के कारण सड़कें अवरुद्ध हो जाएंगी। नदियाँ खतरे के निशान से ऊपर बह सकती हैं, और छोटी नदियाँ और नाले उफान पर हो सकते हैं।

मैदानी और निचले इलाकों में जलभराव हो सकता है।इससे कच्चे घरों को नुकसान हो सकता है। मौसम विभाग को अलर्ट किया गया है कि भूस्खलन संभावित क्षेत्रों के लोग सतर्क रहें।

 

पर्वतारोहण अभियान रोक दिए गए हैं और अभियान के सदस्यों को उत्तरकाशी में हुई इस दुखद घटना के बाद सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी जा सकती है। किसानों को सलाह दी जाती है कि वे जलजमाव से बचने के लिए खेत में उचित जल निकासी चैनल बनाएं। यात्रियों या लोगों को यात्रा से बचने की सलाह दी जाती है।

कुमाऊं संभाग के 6 जिलों नैनूताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, चंपावत और उधम सिंह नगर समेत गढ़वाल के चमोली रुद्रप्रयाग उत्तरकाशी जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

कुछ दिनों बाद राज्य में मौसम फिर से बदलने लगा है। मैदान से लेकर पहाड़ तक आसमान में धूप की जगह बादलों ने ले ली है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक बुधवार को प्रदेश के अधिकतर इलाकों में आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते हैं. छिटपुट गरज और तेज हवाओं के साथ मध्यम से भारी बारिश संभव है।

Vaibhav Patwal

Haldwani news

View all posts by Vaibhav Patwal →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *