Breaking News
Home / देहरादून न्यूज़ / वायरल हुआ वीडियो, निधन से कुछ दिन पहले यमराज को लेकर राजू श्रीवास्तव ने कही थी ये बात |

वायरल हुआ वीडियो, निधन से कुछ दिन पहले यमराज को लेकर राजू श्रीवास्तव ने कही थी ये बात |

अपनी जबरदस्त कॉमेडी से सबको हंसाने वाले हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastav) ने सभी को रुला दिया. आज यानी 21 सितंबर की सुबह उन्होंने दिल्ली एम्स में अंतिम सांस ली और सभी को गमगीन कर गए. उनके जाने के बाद उनसे जुड़ी चीजें लगातार चर्चाओं में बनी हुई हैं. इसी बीच अब उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वो यमराज को लेकर बातें कर रहे हैं | अब जब राजू श्रीवास्तव इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं, तो उनके जाने के बाद ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वहीं लगातार इसपर उनके चाहने वालों के रिएक्शन आ रहे हैं. कोई ओम शांति लिखा रखा रहा है, तो कोई उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर रहा है. वहीं एक यूजर ने लिखा, “सर आप हंसाने वाले हमें रुला रहे हो | बहरहाल, राजू श्रीवास्तव (Raju Srivatav) के जाने से देशभर में शोक की लहर दौड़ पड़ी है. गौरतलब है कि 10 अगस्त को जिम में वर्कआउट करते हुए उन्हें हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था. लोग लगातार उनके स्वस्थ होने की दुआएं कर रहे थे, हालांकि आज राजू ये जंग हार गए |

यमराज भी आ जाए तो..

सोशल मीडिया के माध्यम से राजू श्रीवास्तव अपने सिग्नेचर स्टाइल वाले जुमलों और कसीदों की कई वीडियोज अपने फैनबेस के लिए पोस्ट करते रहते थे। राजू श्रीवास्तव के दुखद निधन पर उनका वो वीडियो याद आता है जिसमें उन्होंने एक इंसान को मरते दम तक कैसा होना चाहिए? इसका जिक्र किया था। राजू श्रीवास्तव ने इस वीडियो को पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा था, ‘यमराज के भैंसे पर बैठोगे?’ इस वीडियो की शुरुआत में ही राजू कहते हैं, ‘जिंदगी में ऐसा काम करो कि अगर यमराज भी आएं, आपको लेने तो कहें, भाईसाहब भैंस पर आप बैठिए. नहीं, नहीं आप पैदल चल रहे हैं, अच्छा नहीं लग रहा है. आप भले आदमी हैं, नेक आदमी हैं तो आप बैठिए.’ देखें ये वीडियो |बता दें कि 10 अगस्त को जिम में कसरत करते हुए उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। इसके बाद उन्हें एम्स दिल्ली में भर्ती किया गया था। वहां उनका इलाज चल रहा था। हालत में सुधार न होने पर उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। इस बीच उनके परिवार और साथ काम करने वालों की तरफ से लगातार अपडेट्स मिल रहे थे। इलाज के दौरान उनकी तबीयत में सुधार की खबर भी आई थी लेकिन अब उनके निधन की दुखद खबर ने सबको बड़ा सदमा दे दिया है। उनकी सलामती के लिए उनके इंडस्ट्री फ्रेंड कैलाश खेर ने महामृत्युंजय का पाठ तक करवाया लेकिन शायद भगवान को कुछ और ही मंजूर था।राजू श्रीवास्तव का गजोधर भैया वाले किरदार की कॉमेडी दर्शकों को ठहाके लगाने पर मजबूर कर दिया करती थी। उनके जैसा ना कोई कॉमेडियन आया ना आएगा जिसने मिडल क्लास जिंदगी से जुड़े किस्सों को जुमलों की शक्ल दे डाली। यादव, संकठा, गजोधर, बिरजू की ट्रेन छुटने के किस्सों से लेकर नेताओं की टांग खींचने जैसा बेमिसाल हुनर राजू श्रीवास्तव के अलावा शायद ही किसी और कॉमेडियन में देखने को मिला हो।

10 अगस्त से वेंटिलेटर पर थे

कॉमेडियन को 10 अगस्त को सुबह हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के AIIMS में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने उनके सिर का सीटी स्कैन कराया तो दिमाग के एक हिस्से में सूजन मिला था | 15 दिन बाद जानकारी मिली कि उन्होंने अपना एक पैर मोड़ा था, लेकिन उन्हें होश नहीं आया और उनका ब्रेन भी रिस्पॉन्स नहीं कर रहा था। AIIMS में राजू की एंजियोप्लास्टी की गई थी, जिसमें हार्ट के एक बड़े हिस्से में 100% ब्लॉकेज मिला था। राजू के परिवार में उनकी पत्नी शिखा, बेटी अंतरा, बेटा आयुष्मान, बडे़ भाई सीपी श्रीवास्तव, छोटे भाई दीपू श्रीवास्तव, भतीजे मयंक और मृदुल हैं। राजू ने 2014 में BJP जॉइन की थी। वे काम के सिलसिले में दिल्ली पार्टी के कुछ बड़े नेताओं से मिलने के लिए दिल्ली पहुंचे थे। वह दिल्ली के साउथ एक्स के कल्ट जिम में 10 अगस्त की सुबह वर्क आउट कर रहे थे। इस दौरान ट्रेडमिल पर रनिंग करते समय उन्हें चेस्ट में पेन हुआ और वे नीचे गिर गए थे। इसके बाद उन्हें फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया। राजू हमेशा अपनी फिटनेस पर ध्यान रखते थे और वह फिट और फाइन थे। 31 जुलाई तक वो लगातार शोज कर रहे थे, उनके आगे कई शहरों में शोज भी लाइन अप थे। राजू श्रीवास्तव का असली नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव है। उनका जन्म 25 दिसंबर 1963 को कानपुर के नयापुरवा में हुआ था। उन्होंने 1993 में हास्य की दुनिया में कदम रखा। 1980 में वे कानपुर से मुंबई के लिए भागे थे। अपने घर की दीवार फांदकर पड़ोसी के घर में कूदे और वहां से सीधे मुंबई भाग गए। उनके पड़ोसियों ने बताया कि चिल्लाते हुए गए थे कि अब नाम कमाकर ही लौटूंगा।

 

About ads