Breaking News
Home / देहरादून न्यूज़ / बहन की शादी के लिए बिक गया था राजू श्रीवास्तव का घर, बाद में 10 गुना कीमत देकर खरीदा था ‘Raju shrivastav’

बहन की शादी के लिए बिक गया था राजू श्रीवास्तव का घर, बाद में 10 गुना कीमत देकर खरीदा था ‘Raju shrivastav’

राजू श्रीवास्तव एक बड़े कॉमेडियन थे लेकिन करियर की शुरुआत में उन्हें काफी बुरे वक्त का भी सामना करना पड़ा था. राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था. राजू श्रीवास्तव के एक पड़ोसी ने बताया था कि उन्हें काफी संघर्ष कना पड़ा था । कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) अब हमारे बीच नहीं रहे. आज उनका दिल्ली में दिल्ली में परिवार व करीबी दोस्तों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया. राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था. कॉमेडियन के एक पड़ोसी ने पिंकविला से खास बातचीत में बताया था कि राजू ने बहुत संघर्ष किया था, यहां तक कि उनकी बहन की शादी के लिए उन्होंने घर भी बेच दिया गया था। राजू श्रीवास्तव एक बड़े कॉमेडियन थे लेकिन करियर की शुरुआत में उन्हें काफी बुरे वक्त का भी सामना करना पड़ा था. राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था. राजू श्रीवास्तव के एक पड़ोसी ने बताया था कि उन्हें काफी संघर्ष कना पड़ा था. उनकी बहन की शादी 1990 में हुई थी. उनके पिता को पैसों की जरूरत थी और इसलिए उन्होंने 3 लाख रुपये में घर बेच दिया और अपनी बेटी की शादी कर दी. इसके बाद पूरा परिवार कुछ दिन बारादेवी में किराए के मकान में और कुछ दिन यशोदा नगर में रहा । कॉमेडियन ने कुछ समय बाद जब मुंबई में पहचान बना ली तो अपना घर वापस खरीदने की पेशकश की. घर के मालिक को समझाने में काफी समय लगा. इसके बाद साल 2000 में राजू ने दोबारा 24 लाख रुपये में अपना घर खरीदा. जिसके बाद पूरा परिवार एक बार फिर अपने घर में लौट आया था. राजू के छोटे भाई की पत्नी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उनके भाई को पुश्तैनी घर से बेहद लगाव था ।

जब राजू श्रीवास्तव का बिक गया था घर ।

राजू श्रीवास्‍तव का जन्‍म एक मिडिल क्‍लास फैमिली कानपुर में हुआ था। उनका असली नाम सत्‍य प्रकाश श्रीवास्‍तव था,जो आगे चलकर राजू श्रीवास्‍तव के नाम से मशहूर हुए। राजू श्रीवास्तव के एक पड़ोसी ने बताया था कि राजू ने बहुत संघर्ष किया था। सन 1990 में कॉमेडिन की बहन की शादी थी। उनके पिता को पैसे की बहुत जरूरत थी, इसलिए उन्होंने तीन लाख रुपये में घर को बेच दिया और बेटी की शादी कर दी। इसके बाद पूरा परिवार कुछ दिन बारादेवी तो कुछ दिन यशोदा नगर में किराये के मकान में रहा। कॉमेडिन ने कुछ समय बाद जब उन्हें मुंबई में पहचान मिली तो उन्होंने अपने घर को वापिस खरीदने की पेशकश की और मकान के मालिक को मनाने में काफी समय लगा। इसके बाद साल 2000 में राजू ने अपने मकान को दोबारा 24 लाख रुपये में खरीदा। मकान खरीदने के बाद राजू के पिता फिर से परिवार के साथ अपने घर में रहने लगे। राजू के छोटे भाई की पत्नी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि भइया पुस्तैनी मकान से बड़ा प्रेम था। राजू की पत्नी शिखा श्रीवास्तव ने ईटाइम्स से बात करते हुए कहा कि वह जिंदगी के लिए बहुत लड़े। मैं बड़ी आस लगाए हुए थी। भगवान से प्रार्थना कर रही थी कि वह इससे बाहर आएंगे, ठीक होकर घर लौट आएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बस इतना ही कह सकती हूं कि वह एक सच्चे फाइटर थे।

कॉमेडियन की पत्नी ने कही यह बात ।

राजू की पत्नी शिखा श्रीवास्तव ने ईटाइम्स से बात करते हुए कहा कि वह जिंदगी के लिए बहुत लड़े। मैं बड़ी आस लगाए हुए थी। भगवान से प्रार्थना कर रही थी कि वह इससे बाहर आएंगे, ठीक होकर घर लौट आएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बस इतना ही कह सकती हूं कि वह एक सच्चे फाइटर थे ।

 

 

 

 

About ads