Breaking News
Home / स्पोर्ट्स / नीरज चोपड़ा ने डाएमंड लीग मे गोल्ड मेडल जीत कर फिर रचा इतिहास…. बने पहले भारतीय जिन्होंने डाएमंड लीग मे गोल्ड प्राप्त किया।

नीरज चोपड़ा ने डाएमंड लीग मे गोल्ड मेडल जीत कर फिर रचा इतिहास…. बने पहले भारतीय जिन्होंने डाएमंड लीग मे गोल्ड प्राप्त किया।

ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने प्रतिष्ठित डायमंड लीग फाइनल्स का खिताब जीतकर एक और ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है. नीरज चोपड़ा यह खिताब जीतने वाले पहले भारतीय एथलीट हैं. नीरज चोपड़ा ने फाउल से शुरुआत की लेकिन अपने दूसरे प्रयास में 88.44 मीटर भाला फेंक कर वह शीर्ष पर पहुंच गए. यह उनके करियर का चौथा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है जो आखिर में उन्हें स्वर्ण पदक दिला गया. उन्होंने अपने अगले चार प्रयास में 88.00 मीटर, 86.11 मीटर, 87.00 मीटर और 83.60 मीटर भाला फेंका । चेक गणराज्य के ओलंपिक रजत पदक विजेता जैकब वाडलेज 86.94 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ दूसरे स्थान पर रहे. इसे उन्होंने अपने चौथे प्रयास में हासिल किया. जर्मनी के जूलियन वेबर 83.73 मीटर के साथ तीसरे स्थान पर रहे. नीरज ने बाद में कहा, आज वाडलेज के साथ प्रतिस्पर्धा बहुत अच्छी रही. उसने भी अच्छे थ्रो किए. मुझे आज 90 मीटर तक भाला फेंकने की उम्मीद थी लेकिन मैं खुश हूं कि मेरे पास अब डायमंड ट्रॉफी है और यह सबसे महत्वपूर्ण है । यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां से मेरे साथ मेरा परिवार भी है.

दूसरी थ्रो में ही पक्का किया स्वर्ण

नीरज की पहली थ्रो फाउल गई, जबकि दूसरी थ्रो ने 88.44 मीटर की दूरी नापी, जो उन्हें खिताब दिलाने के लिए काफी थी। नीरज ने तीसरी थ्रो 88, चौथी 86.11, पांचवीं 87 और छठी अंतिम थ्रो 83.6 मीटर फेंकी। वादलेच्चो ने नीरज के साथ ओलंपिक में पदक जीता था। जर्मनी के जूलियन वेबर 83.73 मीटर के साथ तीसरे स्थान पर रहे। इस जीत के साथ नीरज ने 23.98 लाख रुपये की पुरस्कार राशि हासिल की साथ ही डायमंड ट्रॉफी पर भी कब्जा जमाया। जीत के बाद नीरज ने ट्रॉफी के साथ तिरंगे को ओढ़ लिया। इसके बाद सभी विजेताओं को डायमंड ट्रॉफी के साथ ट्रैक पर कार से घुमाया गया, जिसमें नीरज भी शामिल थे। 89.94 मीटर भाला फेंक राष्ट्रीय रिकॉर्ड बना चुके हैं नीरज इस सत्र में 86.94 मीटर के साथ चेक गणराज्य के जैकब दूसरे स्थान पर रहे ।

चोट लगने के बाद भी नहीं मानी हार

नीरज चोपड़ा वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में चोटिल हो गए थे। जिसके बाद उन्होंने जुलाई-अगस्त में कॉमनवेल्थ गेम्स में भाग नहीं लिया। अब उन्होंने वापसी करते हुए डायमंड लीग के फाइनल मे पहुंचने वाले वे भारत के इकलौते खिलाड़ी भी बने थे। इससे पहले डिस्कस थ्रो में विकास गौड़ा डायमंड लीग मीट के शीर्ष तीन में जगह बनाने वाले इकलौते भारतीय बने थे। वैसे नीरज चोपड़ा के करियर का बेस्ट थ्रो 89.94 मीटर है। यह उन्होंने स्टॉकहोम डायमंड लीग 2022 में रचा था।

About ads