Breaking News
Home / अजब गज़ब / जानिए कौन है वो बिहार का शिक्षक जिसने 545 बच्चो को बनाया है इंजीनियर मात्र 1 रुपए फीस लेकर |

जानिए कौन है वो बिहार का शिक्षक जिसने 545 बच्चो को बनाया है इंजीनियर मात्र 1 रुपए फीस लेकर |

1 रुपए में शिक्षा देने वाले इस टीचर का नाम रजनीकांत श्रीवास्तव है। वह बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले हैं और लगभग 15 साल से जरूरतमंद बच्चों को पढ़ाई करा रहे हैं। भारत में हर वर्ग के लोग रहते हैं। ऐसे में बहुत से बच्चों के लिए फीस देना मुमकिन नहीं है। इसी को देखते हुए रजनीकांत श्रीवास्तव ने बच्चों को 1 रुपए की फीस में कोचिंग देने का फैसला लिया है। वह कोचिंग में हर उस बच्चे को पढ़ाते हैं जो पढ़ने की इच्छा रखता है लेकिन फीस देने में असर्मथ है।

गणित में 52 तरीके से पाइथागोरस थियोरम को सिद्ध

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी ख्याति को प्राप्त कर चुके आरके श्रीवास्तव (RK Srivastava) अपने आप को स्थापित करने में लगातार लगे रहे। एक दौर ऐसा भी आया जब आरके श्रीवास्तव ने गणित में 52 तरीके से पाइथागोरस थियोरम को सिद्ध कर देश-दुनिया के कई रिकॉर्ड अपने नाम किया। गणितज्ञ आर के श्रीवास्तव के नाम से दुनिया में मशहूर इस शख्सियत के शिष्य ‘गुगल ब्वॉय कौटिल्य’ भी हैं। वहीं कई स्टूडेंट्स को नाइट क्लास और डाउट क्लास चलाकर लगातार उनको निखारकर सफलता दिलाने में लगे हुए हैं।

हमेशा से शिक्षक बनना चाहते थे आर.के. सर 

रोहतास जिला के बिक्रमगंज के रहनेवाले आर.के. सर का पूरा नाम रजनीकांत श्रीवास्तव है। छोटी उम्र में अपने पिता को खो देने के बाद भी उनका बचपन सामान्य तरीक़े से ही बीता; पुश्तैनी खेती से उनका घर चलता रहा। आगे चलकर उनके बड़े भाई ने घर के ख़र्च निकालने के लिए एक ऑटो भी ख़रीद लिया था। आर.के. सर बताते हैं, “बचपन से गरीबी देखकर मैं समझ गया था कि पढ़ाई ही वह कुंजी है जिसके ज़रिए कोई गरीब बच्चा अपने भविष्य को बेहतर बना सकता है। इसलिए वह काफ़ी मेहनत और लगन से पढ़ते थे। उन्हें बचपन से गणित और विज्ञान जैसे विषयों में रूचि थी। दसवीं पास होने के बाद उन्होंने भी किसी दूसरे युवा की तरह एक इंजीनियर बनने का सपना देखा था; लेकिन जीवन में कभी-कभी कुछ अच्छा होने के पहले, इंसान को किसी बड़ी परीक्षा से गुज़रना पड़ता है। ऐसा ही कुछ आर.के. सर के साथ भी हुआ।

About ads