Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड की यह जड़ी-बूटी कई तरह से है फायदेमंद, एक पेड़ कई समस्याओं को दूर कर सकता है

उत्तराखंड की यह जड़ी-बूटी कई तरह से है फायदेमंद, एक पेड़ कई समस्याओं को दूर कर सकता है

हमारे साहित्य में उत्तराखंड को विभिन्न जड़ी-बूटियों की भूमि कहा गया है। आज हम यहां सिमई के पौधे के बारे में बात कर रहे हैं। यह पौधा जियोलीकोट, रानी बाग, काठगोदाम, मंगोली खुर्पाताल और नैनीताल के अन्य क्षेत्रों में देखा जा सकता है। बहुत कम लोग ही जानते हैं कि यह पौधा औषधीय गुणों से भरपूर होता है और कई बीमारियों में उपयोगी होता है। इसे स्थानीय भाषा में सौन भी कहते हैं। इस पौधे में कई रोगों को दूर करने के गुण होते हैं, जिसके कारण यह पौधा बहुत महत्वपूर्ण होता है।

ये हैं सिमई के पौधों के फायदे

सिमाई का पौधा उत्तराखंड के गर्म क्षेत्र में पाया जाता है। इसे ज्योलिकोट, रानी बाग, काठगोदाम, मंगोली खुर्पाताल और नैनीताल के अन्य क्षेत्रों में आसानी से देखा जा सकता है।

यह पौधा कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है। इसके पत्तों का तेल जोड़ों के दर्द में काम आता है। इस तेल को जोड़ों में लगाने से दर्द में आराम मिलता है।

वहीं ऐसा माना जाता है कि पहाड़ों में इस पौधे से झाडू लगाना भी बहुत लोकप्रिय है। उनका मानना ​​है कि जब भी शरीर का कोई अंग हवा से प्रभावित होता है या उस हिस्से को लकवा मार जाता है तो उस स्थान पर सौंफ के पत्ते झाड़ दिए जाते हैं। ऐसा लगातार 3-4 दिन तक करने से यह ठीक हो जाता है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news