Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड में अब भी अब घर बनाना हुआ मुश्किल, खाद्य बाद अब घर बनाने का सामान हुआ महंगा

उत्तराखंड में अब भी अब घर बनाना हुआ मुश्किल, खाद्य बाद अब घर बनाने का सामान हुआ महंगा

महामारी के बाद से देश के हर हिस्से में महंगाई आसमान छू रही है। पिछले एक साल में महंगाई का असर खाने-पीने की चीजों पर इतना ज्यादा रहा है कि इसके साथ ही उत्तराखंड में भवन निर्माण सामग्री के रेट भी आसमान छू रहे हैं।

मध्यम वर्गीय के लिए घर बनाना हुआ मुश्किल

ईंटों, रेत, सीमेंट की छड़ों और अन्य सामग्रियों की कीमतों में वृद्धि हुई है और कीमत में वृद्धि के कारण निर्माण की लागत में 30 से 35 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। केंद्र सरकार जहां महंगाई दर में कमी का दावा कर रही है, वहीं जमीनी हकीकत कुछ और ही कह रही है।

अब सिर्फ खाने-पीने की चीजें ही नहीं बल्कि मकान बनाने के लिए जरूरी निर्माण सामग्री भी महंगी हो गई है। ईंट, बालू, सीमेंट, बार और अन्य सामग्री के दाम बढ़ने से निर्माण की लागत 30 से 35 प्रतिशत तक बढ़ गई है। इस तेजी के कारण कुछ निर्माण कार्य ठप पड़े हैं। इसलिए यदि आप घर बनाने की योजना बना रहे हैं तो हम आपको उस योजना को विराम देने की सलाह देते हैं।

सीमेंट 22 तो रेट 50 फीसदी तक महंगी

दूसरी ओर ठेकेदारों के लिए पुरानी दर पर काम करना संभव नहीं है क्योंकि बिल्डरों का बजट हिल गया है और वे बढ़ी हुई कीमत चुकाने की स्थिति में नहीं हैं। एक साल पहले जो बार 5800 रुपये से 7500 रुपये प्रति क्विंटल बिक रहे थे। एक महीने में इसकी कीमत में 18 फीसदी का इजाफा हुआ है।

इसी तरह ईंट की कीमत में भी 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और यह छह हजार के करीब पहुंच गई है। सीमेंट 22 फीसदी महंगा हो गया है और रेत की कीमत 50 फीसदी बढ़ गई है। वहीं बिल्डरों का कहना है कि एक साल पहले तक 1000 वर्ग फुट का घर 10 से 11 लाख रुपये में बनकर तैयार होता था, अब इसकी कीमत 14 लाख या इससे ऊपर पहुंच रही है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news