Breaking News
Home / देहरादून न्यूज़ / पर्यटकों के लिए बंद हुआ केम्प्टी फॉल्स, भारी बारिश से झरने में आया मलबा

पर्यटकों के लिए बंद हुआ केम्प्टी फॉल्स, भारी बारिश से झरने में आया मलबा

उत्तराखंड में हिमालय के कारण हर प्रकृति कानून यहां की अवहेलना करता है, जैसा कि हमने देखा कि मानसून का मौसम इस क्षेत्र में महत्वपूर्ण बारिश लाता है लेकिन मानसून का प्रस्थान निकट है, और यह हर साल तबाही की प्रक्रिया के साथ आता है। यह पहले से ही पिछले कुछ दिनों में देखा गया है जहां देहरादून ने अपना सबसे महत्वपूर्ण पुल खो दिया है जो इसे हवाई अड्डे और अन्य शहरों से भी जोड़ता है। राज्य के हर हिस्से से खौफनाक वीडियो देखने को मिल रहे हैं. कहीं पहाड़ टूट रहे हैं तो कहीं नदियां उफान पर हैं।

मसूरी में भी, केम्प्टी क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश के बाद जलप्रपात उफान पर था। केम्प्टी थाना पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर दुकानदारों और पर्यटकों को झरने के आसपास से हटा दिया है। लगातार बारिश के कारण केम्प्टी फॉल्स का जल स्तर अचानक बढ़ गया जो पिछले दिन की दोपहर में हुआ था। यह देख मौके पर मौजूद सैलानी काफी घबरा गए। सूचना मिलते ही कामपटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पर्यटकों को वहां से हटाया।

एहतियात के तौर पर दुकानदारों को भी झरने के पास नहीं रहने को कहा गया है। फिलहाल केम्प्टी फॉल्स में पर्यटकों का प्रवेश पूरी तरह से प्रतिबंधित है। घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दूसरी ओर, लगातार बारिश के कारण क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर सड़कें बंद हैं क्योंकि वे भूस्खलन क्षेत्र के लिए अधिक संवेदनशील हैं।

 

गालोगी धार में भूस्खलन से मसूरी-देहरादून हाईवे बंद इस दौरान कई वाहन हाईवे के दोनों ओर फंस गए। आपदा प्रबंधन टीम पहले से ही अपना काम कर रही थी। मौके पर अभी तक जेसीबी नहीं पहुंची है। बताया जा रहा है कि यहां तीन वाहन मलबे में दबे हुए हैं। पहाड़ी इलाकों में इन दिनों बारिश का दौर जारी है, भूस्खलन की घटनाएं भी हो रही हैं. ऐसे में जितना हो सके वाहन चलाते समय सावधानी बरतें।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news