Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / UKSSSC में सचिव के बाद शालिनी नेगी बनी परीक्षा नियंत्रक, जल्द ही होंगी रुकी परीक्षाएं

UKSSSC में सचिव के बाद शालिनी नेगी बनी परीक्षा नियंत्रक, जल्द ही होंगी रुकी परीक्षाएं

उत्तराखंड में स्नातक स्तर की परीक्षा में यूकेएसएसएससी द्वारा घोटाले के बाद राज्य सरकार हरकत में आई है और अब बडोनी के स्थान पर राज्य सचिवालय में संयुक्त सचिव सुरेंद्र सिंह रावत को यूकेएसएसएससी में सचिव पद की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है। सरकार ने आयोग के परीक्षा नियंत्रक का पद भी तैनात किया है, जो दिसंबर से खाली है। पीसीएस अधिकारी शालिनी नेगी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है।

यूकेएसएसएससी में परीक्षा नियंत्रक की पदस्थापना के बाद ग्रुप सी के करीब 4200 पदों पर भर्ती का रास्ता खुल गया है। इससे पहले पेपर लीक मामले में विवादों से घिरे अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने मामला दर्ज किया था। परीक्षा नियंत्रक की तैनाती पर रोक अब नौकरी पाने की आस में बैठे 3 लाख से ज्यादा बेरोजगारों को राहत मिलेगी।

आयोग में आठ माह से परीक्षा नियंत्रक की कुर्सी खाली थी। इस्तीफा देने से पहले राष्ट्रपति एस राजू ने सरकार को पत्र भेजकर आगामी भर्तियों की आठ परीक्षाओं पर रोक लगाने को कहा था। जिसमें कहा गया था कि जब तक परीक्षा नियंत्रक आयोग में पदस्थापित नहीं हो जाते, तब तक भर्ती परीक्षाएं कराना संभव नहीं है। परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी के दिसंबर में सेवानिवृत्त होने के बाद से सचिव संतोष बडोनी परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

अब परीक्षा नियंत्रक की तैनाती के बाद पटवारी-लेखपाल, पुलिस कांस्टेबल, वन रक्षक, सहायक लेखाकार पुन: परीक्षा जैसी परीक्षाओं का रास्ता खुल गया है। इन विभागों में सभी पदों के लिए बड़ी संख्या में युवाओं ने आवेदन किया है। ये भर्ती परीक्षा अगले छह महीनों में आयोजित होने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि तीन लाख से ज्यादा युवा इन आठ भर्ती परीक्षाओं का इंतजार कर रहे हैं।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news