Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / मौसम विभाग ने उत्तराखंड के 6 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया, राज्य में 165 से अधिक सड़कें अवरुद्ध

मौसम विभाग ने उत्तराखंड के 6 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया, राज्य में 165 से अधिक सड़कें अवरुद्ध

उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश ने लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। पहले बताया जा रहा है कि यहां अगले 48 घंटों के भीतर मैदानी से पहाड़ तक बारिश होने की संभावना है जो सच साबित हो रही है. पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन का खतरा बढ़ गया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि 31 तक बारिश से राहत नहीं, पहाड़ी और मैदानी जिलों को बारिश से राहत नहीं मिलेगी. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए कुछ जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। यह भी बताता है कि आज मौसम कैसा रहेगा।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक आज यानी 30 जुलाई को प्रदेश के देहरादून, नैनीताल, टिहरी, पौड़ी, चंपावत जिलों में छिटपुट स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है. इन जिलों के लिए जारी किया गया है। इसके अलावा अन्य जिलों में छिटपुट स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है। 31 जुलाई को भी बूंदाबांदी भीगती रहेगी।

राज्य के नैनीताल, देहरादून, चंपावत, टिहरी और पौड़ी गढ़वाल जैसे जिलों में कल भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. इन जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। 31 जुलाई तक कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है, जबकि कुछ जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। कुछ इलाकों में गरज और बिजली गिरने की संभावना है। बारिश से हाईवे बंद हो सकते हैं, पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन की संभावना है।

दूसरी ओर, भूस्खलन के कारण पिछले दिन भूस्खलन और बोल्डर के कारण राज्य में कुल 186 सड़कें बंद हो गईं. लोक निर्माण विभाग द्वारा शुक्रवार को 65 सड़कों पर काम कराया जा रहा है. बद्रीनाथ हाईवे फरासू और लामगढ़ में मलबा आने से बंद है। तीर्थयात्री हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे हैं। वहीं, सिमली थराली मोटर मार्ग और कर्णप्रयाग गैरसैंण मोटर मार्ग भी मलबे के कारण बंद है। यमुनोत्री हाईवे पर वाहनों की आवाजाही भी ठप हो गई है। नौगांव में रात भर हुई भारी बारिश से देवलसारी गडेरा उफान पर है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news