Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड के 9 जिलों में हो सकती है 24 घन्टे भारी दे भारी बारिश, फूलों की घाटी में बादल फटने से हेमकुंड यात्रा रोकी

उत्तराखंड के 9 जिलों में हो सकती है 24 घन्टे भारी दे भारी बारिश, फूलों की घाटी में बादल फटने से हेमकुंड यात्रा रोकी

मानसून की शुरुआत के साथ ही पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. इस बीच लगातार हो रही बारिश ने इलाके में भूस्खलन की घटनाओं को बढ़ा दिया है, ऐसे ही चमोली जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। इधर घांघरिया क्षेत्र में बादल फटने की खबर है। ईश्वर का कहना है कि यह घटना आबादी क्षेत्र में नहीं हुई है, एहतियात के तौर पर हेमकुंड जाने वाले यात्रियों को रास्ते में रोक दिया गया है।

बादल फटने के बाद नदियों का जलस्तर थोड़ा बढ़ा है लेकिन किसी भी तरह की समस्या से बचने के लिए अभी भी इस पर लगातार नजर रखी जा रही है। घांघरिया क्षेत्र फूलों की घाटी और हेमकुंड साहिब का मुख्य पड़ाव है, जहां बादल फटे हैं। हालांकि इस घटना में कोई जान-माल का नुकसान नहीं हुआ, फिर भी एहतियात के तौर पर हेमकुंड जाने वाले यात्रियों को रास्ते में ही रोक दिया गया।

मुख्यालय से मिली ताजा जानकारी के अनुसार हेमकुंड जाने वाले करीब 30 से 35 यात्रियों को सुरक्षा कारणों से रोक दिया गया है, हालांकि हेमकुंड साहिब से वापस आने वाले यात्रियों को वापस लाया जा रहा है, उन्हें नए पुल से जाने को कहा गया है. एसडीआरएफ के अधिकारियों ने कहा कि भारी बारिश को देखते हुए डाउनस्ट्रीम में नदियों के जल स्तर पर भी लगातार नजर रखी जा रही है, हम स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

मौसम की बात करें तो अगले 24 घंटे के भीतर देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, उधम सिंहनगर, बागेश्वर, पिथौरागढ़, हरिद्वार समेत राज्य के नौ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है. भारी बारिश को देखते हुए मौसम विभाग की ओर से रेड अलर्ट जारी किया गया है। इन नौ जिलों में नदियों, नालों के किनारे रहने वाले लोगों के साथ-साथ भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news