Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड में यहाँ आज भी उगते है पांडवो के उगाये चावल, इतिहास में अपना अलग ही स्थान रखता है पाण्डवसेरा

उत्तराखंड में यहाँ आज भी उगते है पांडवो के उगाये चावल, इतिहास में अपना अलग ही स्थान रखता है पाण्डवसेरा

उत्तराखंड पूजा का स्थान नहीं है यहां जो लोग भगवान को नहीं मानते वे ट्रेकिंग करने आ सकते हैं। यह जगह कई खूबसूरत जगहों से भरी हुई है, जहां लोग आकर मेट्रो शहरों में काम करने के बाद मिलने वाले तनाव से खुद को डिटॉक्स कर सकते हैं। आज हम आपको आज गढ़वाल के एक अद्भुत ट्रेकिंग रूट के बारे में बताने जा रहे हैं। इस शब्द का युगों का एक लंबा इतिहास भी है। हमारे बारे में बताया जा रहा है कि इस जगह की कथाएं पांडवों से जुड़ी हुई हैं।

पांडवों के शस्त्रों की पूजा आज भी पांडव सेरा में की जाती है, यह रुद्रप्रयाग के मदमहेश्वर-पांडव सेरा-नंदीकुंड 25 किमी फुट मार्ग पर स्थित है, जबकि द्वापर युग में पांडवों द्वारा लगाया गया धान आज भी अपने आप उगता है। यहां पांडवों द्वारा बनाई गई सिंचाई नाला आज भी पांडवों के हिमालय में आगमन का प्रमाण है। इस मंदिर से कई मान्यताएं जुड़ी हुई हैं।

लोक कथाओं के अनुसार, जब पांडवों को केदारनाथ धाम में भगवान शंकर के दर्शन हुए थे, तब पांडव द्रौपदी के साथ मदमहेश्वर धाम होते हुए बद्रीनाथ, मोक्षधाम गए थे, जब वे महाभारत के युद्ध के बाद भगवान शिव से क्षमा मांग रहे थे। इन सबके अलावा मदमहेश्वर धाम में अपने पूर्वजों को दान देने वाले पांच पांडवों के साक्ष्य अभी भी एक चट्टान पर मौजूद हैं। मदमहेश्वर धाम से बद्रीकाश्रम जाने के बाद पांचों पांडव कुछ समय पांडव सेरा में रहे, तब यह स्थान पांडव सेरा के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

पांडवों के हथियारों की आज भी यहां पांडव सेरा में पूजा की जाती है और पांडवों द्वारा सिंचित धान की फसल अभी भी अपने आप उगती है और पकने के बाद पृथ्वी के आंचल में समा जाती है। यह भी माना जाता है कि जो पांडव सेरा से लगभग 5 किमी की दूरी पर स्थित नंदीकुंड में स्नान करता है, वह मनुष्य के हृदय को शुद्ध करता है। यदि आप भी पौराणिक और ऐतिहासिक स्थानों में रुचि रखते हैं, और महाभारत की कहानियाँ सुनना पसंद करते हैं तो आपको रुद्रप्रयाग के इस मंदिर को अपनी सूची में अवश्य शामिल करना चाहिए और इस क्षेत्र में कई पुरातत्व और पौराणिक स्थल हैं जिनका अपना महत्व है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news