Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड में सपनो का घर देने के बदले हुई लाखों की धोकाधड़ी, नमी बिल्डर का नाम शामिल

उत्तराखंड में सपनो का घर देने के बदले हुई लाखों की धोकाधड़ी, नमी बिल्डर का नाम शामिल

हाल ही में राज्य उत्तराखंड में लाखों रुपये की धोखाधड़ी के कई मामले सामने आए हैं और उनमें से कई देहरादून में फ्लैट लेने के हैं। हम आपको सलाह देते हैं कि देहरादून में कोई भी जमीन या फ्लैट खरीदने से पहले उचित व्यवस्था करें और सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करें। यहां आपका पैसा लूटने के लिए बिल्डर, जमीन के मालिक, बैंक मैनेजर और बिचौलिए समेत कई लोग बैठे हैं. अब हाल ही में 2 और लोगों से फ्लैट दिलाने के नाम पर 90 लाख की ठगी हुई है. ओर्टिगो रेजीडेंसी नाम के हाउसिंग प्रोजेक्ट में इन लोगों के रैकेट ने दो लोगों से फ्लैट दिलाने के नाम पर 90 लाख रुपये की ठगी की|

यह मामला राजपुर थाने का है. इधर सिक्का बिल्डटेक बिल्डर ने मालसी में ओर्टिगो रेजीडेंसी नाम के हाउसिंग प्रोजेक्ट में फ्लैट दिलाने के नाम पर अपने दो पीड़ितों से लाखों रुपए ठगे। आरोपी ने दोनों ग्राहकों के साथ फ्लैट बेचने का सौदा किया और फिर कर्ज लेकर किसी और को बेच दिया। वहीं, पुलिस ने दोनों पीड़ितों की शिकायत के आधार पर आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है|

शिकायत करने वालों में श्रीरामपुरम कंवाली रोड निवासी अतुल शर्मा और विजय पार्क एक्सटेंशन निवासी आशा रावत हैं। उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है जिसमें उन्होंने कहा है कि दोनों ने एसए बिल्डटेक बिल्डर मालसी में ओर्टिगो रेजीडेंसी नामक एक हाउसिंग प्रोजेक्ट में अलग-अलग फ्लैट खरीदने का सौदा किया था। बिल्डर ने फ्लैट बनाने पर आवंटन पत्र भी दिया और इस पत्र पर आईसीआईसीआई बैंक से ऋण स्वीकृत किया गया।

वहीं सबसे बड़ी बात जो सामने आ रही है कि बैंक ने बिना रजिस्ट्रेशन के ही कर्ज की रकम बिल्डर के खाते में भेज दी. बिल्डर ने कर्ज जारी करते हुए कहा था कि जब तक कब्जा नहीं दिया जाता है तब तक वह किस्त खुद चुकाएगा। कुछ महीनों के लिए कर्ज की किस्त दी गई, लेकिन उसके बाद कर्ज रोक दिया गया। बाद में पता चला कि आशा रावत को जो फ्लैट मिलना था, वह किसी और के पास रजिस्टर्ड है।

वहीं पुलिस ने बताया कि सूचना के आधार पर दोनों पीड़ितों की शिकायत दर्ज कर एसए बिल्डटेक के निदेशक प्रेम दत्त शर्मा, आराधना शर्मा, सुनीता शर्मा और नई दिल्ली निवासी अरुण सहगल और भूमि मालिक सुनील अग्रवाल, बिचौलिए गौरव आहूजा के साथ, आईसीआईसीआई बैंक के तत्कालीन प्रबंधक और कर्मचारी थे, उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news