Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड में हर कोने में फ़ैल रहा है भ्रष्टाचार, रणजी टीम में मिल रही है 10 लाख में जगह

उत्तराखंड में हर कोने में फ़ैल रहा है भ्रष्टाचार, रणजी टीम में मिल रही है 10 लाख में जगह

हाल ही में जब उत्तराखंड क्रिकेट टीम ने रणजी ट्रॉफी में शर्मनाक हार से 700 से अधिक रनों से हारकर इतिहास रच दिया। मुंबई के खिलाफ अहम मैच में। यह भारत में नहीं बल्कि दुनिया में भी रिकॉर्ड है, लेकिन मुंबई की इस जीत ने उत्तराखंड के क्रिकेट प्रेमियों का दिल तोड़ दिया। इसके बाद से उत्तराखंड के चयन बोर्ड पर कई गंभीर आरोप लगे हैं जिनमें से एक प्रमुख है उत्तराखंड क्रिकेट संघ के खिलाफ वित्तीय अनियमितता का सामना करना पड़ रहा है|

एक बार फिर सीएयू सचिव माहिम वर्मा समेत 7 पदाधिकारियों के खिलाफ जबरन पैसा मांगने, मारपीट, जान से मारने की धमकी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. देहरादून के पुलिस अधिकारी जनमेजय खंडूरी के आदेश पर अब सीएयू के सचिव समेत उन 7 पदाधिकारियों पर पुलिस कार्रवाई हुई है. ये आरोप उत्तराखंड के प्रतिभाशाली क्रिकेटर आर्य सेठी के पिता रवि सेठी ने लगाए हैं।

उनका कहना है कि आर्य सेठी विजय हजारे और उत्तराखंड टीम के सदस्य हैं। उन्होंने बताया कि सीएयू सचिव माहिम वर्मा ने टीम में जगह देने के एवज में 10 लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी. आर्य सेठी को रिश्वत की राशि नहीं देने पर प्रताड़ित किया जाता था। उन्हें 29 मैचों में बाहर रखा गया, खेलने का मौका नहीं दिया गया।

अब इस मामले में सीएयू सचिव माहिम वर्मा, मनीष झा, पीयूष रघुवंशी, नवनीत मिश्रा, सत्यम शर्मा, संजय गुसाईं और पारुल के खिलाफ वसंत विहार थाने में मामला दर्ज किया गया है. 20 जून की देर रात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। मामले की जांच की जा रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि उत्तराखंड क्रिकेट संघ पर फंड के प्रबंधन से लेकर हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगते रहे हैं. खिलाड़ियों ने प्रबंधन पर उनके अधिकारों को लूटने और मानसिक प्रताड़ना का भी आरोप लगाया है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news