Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तरखं में पाया गया मंकी पॉक्स का पहला संदिघ्द, रिपोर्ट आने का हो रहा इंतज़ार

उत्तरखं में पाया गया मंकी पॉक्स का पहला संदिघ्द, रिपोर्ट आने का हो रहा इंतज़ार

जैसे ही राज्य में कोरोना महामारी के मामलों पर विराम लगा है, राज्य में मंकीपॉक्स वायरस का खतरा बढ़ गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों से अग्रिम तैयारी सुनिश्चित करने को कहा है। उत्तराखंड में भी अलर्ट घोषित कर दिया गया है, इस बीच हरिद्वार जिले से एक बड़ी खबर आई है। यहां रुड़की में एक व्यक्ति को मंकीपॉक्स होने का संदेह है। संदिग्ध मरीज का सैंपल लेकर उसे घर पर आइसोलेट कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि पीड़ित युवक की उम्र 34 साल है|

वह मोहम्मदपुरा इलाके में रहता है और एक स्टील फैक्ट्री में काम करता है। उसे निजी अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी तबीयत बिगड़ गई। युवक में मंकीपॉक्स के कुछ लक्षण देखकर डॉक्टर ने मामले की जानकारी सीएमओ कार्यालय को दी। इसके बाद सीएमओ कार्यालय से सिविल अस्पताल के प्रभारी सीएमएस डॉ. एके मिश्रा को इसकी जानकारी दी गई. डॉ. एके मिश्रा ने डॉ. नीतीश कुमार और लैब स्टाफ की टीम गठित कर मरीज को घर भिजवाया।

चिकित्सा अधिकारियों को लोगों का अतिरिक्त ध्यान रखना है और इसमें तेज बुखार, दर्द, शरीर में पानी की कमी जैसे लक्षण हैं। रोगी को यह लक्षण नहीं होता है, लेकिन शरीर पर दाने हो जाते हैं, जिसमें दाने निकल आते हैं। वर्तमान में, रोगी में मंकीपॉक्स के सभी लक्षण नहीं दिख रहे हैं। उसे घर के एक कमरे में आइसोलेट कर दिया गया है। मरीज के परिवार में उसकी मां, पत्नी और दो बच्चे हैं। सभी के सैंपल लिए जा चुके हैं।

मरीज का सैंपल लेकर अस्पताल की लैब में रखा गया है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है, इलाके में अलर्ट भी जारी कर दिया गया है. बता दें कि बीते दिनों कई देशों में मंकीपॉक्स के मामले बढ़ने के बाद यहां उत्तराखंड में भी एहतियात बरती जा रही है. अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news