Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / एक तरफ ऋषभ पंत बने इंडियन टीम के कप्तान, दूसरी तरफ उत्तराखंड के टीम की हुई शर्मनाक हार

एक तरफ ऋषभ पंत बने इंडियन टीम के कप्तान, दूसरी तरफ उत्तराखंड के टीम की हुई शर्मनाक हार

उत्तराखंड के लिए गुरुवार को क्रिकेट के मैदान से दो खबरें आईं। खबर एक दूसरे के अलग-अलग रूप हैं एक अच्छी है और दूसरी बहुत ही निराशाजनक है। अच्छी खबर यह है कि ऋषभ पंत को पहली बार बतौर कप्तान अंतरराष्ट्रीय टीम में जगह मिली है| लेकिन राष्ट्रीय क्रिकेट में यह मैच राज्य के लिए बेहद निराशाजनक है। रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में मुंबई ने उत्तराखंड को रिकॉर्ड 725 रनों से हरा दिया।

उत्तराखंड पर यह जीत प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रनों के मामले में अब तक की सबसे बड़ी जीत है। इसी के साथ मुंबई की टीम ने काउंटी क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत का विश्व रिकॉर्ड बनाया, लेकिन उत्तराखंड के लिए यह शर्मनाक कहा जाएगा| मुंबई ने अपनी पहली पारी में 8 विकेट पर 647 रन बनाए और पारी घोषित कर दी। टीम के मुख्य कोच अमोल मजूमदार की रणजी ट्रॉफी में पदार्पण के बाद सुवेद पारकर दोहरा शतक बनाने वाले मुंबई के दूसरे बल्लेबाज बने।

चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए पारकर ने सरफराज खान के साथ चौथे विकेट के लिए 267 रन जोड़े। सुवेद पारकर ने 252, सरफराज खान ने 153 और यशस्वी जायसवाल ने शतक बनाया। दूसरी पारी में भी मुंबई ने 261 रन जोड़े। इसके बाद मुंबई के गेंदबाजों ने उत्तराखंड के बल्लेबाजों को मैदान पर नहीं रहने दिया। मुंबई के लिए शाम मुलानी ने पहली पारी में 5 और दूसरी पारी में 3 विकेट लिए। इसी के साथ मुंबई सेमीफाइनल में पहुंच गई है|

वहीं उत्तराखंड की टीम 114 रन ही बना सकी। रणजी ट्रॉफी में रनों के मामले में सबसे बड़ी जीत का पिछला रिकॉर्ड बंगाल के नाम था, जिसने 1953-54 में ओडिशा को 540 रनों से हराया था। मुंबई भारत के घरेलू क्रिकेट सर्किट में सबसे सफल टीम है। टीम ने 41 रणजी ट्रॉफी खिताब जीते हैं

About Vaibhav Patwal

Haldwani news