Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड की सचिवालय के ARO एकाउंट्स परीक्षा में हुआ झोल, एक ही पेपर में 400 प्रश्न गलत अब दोबारा होगा एग्जाम

उत्तराखंड की सचिवालय के ARO एकाउंट्स परीक्षा में हुआ झोल, एक ही पेपर में 400 प्रश्न गलत अब दोबारा होगा एग्जाम

उत्तराखंड राज्य से लापरवाही की एक बड़ी खबर सामने आ रही है| यहां परीक्षा के आयोजन के कारण उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग एक बार फिर नए रूप में है। सहायक लेखाकार भर्ती परीक्षा। बता दें कि असिस्टेंट अकाउंटेंट भर्ती में 662 पदों के लिए 23000 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था| सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि इतने बड़े स्तर पर हो रही परीक्षा एक नहीं दो नहीं 400 सवाल गलत निकले| जी हां, इस बड़ी लापरवाही के चलते भर्ती परीक्षा रद्द कर दी गई है। अब उम्मीदवारों को दोबारा यह परीक्षा देनी होगी।

आपको बता दें कि इन रिक्त पदों के लिए 23 हजार उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। लेकिन गलत प्रश्न के कारण परिणाम गड़बड़ा गया। इससे सरकार पर भी कई सवाल खड़े हो गए हैं। क्या वाकई सरकार युवाओं को रोजगार देना चाहती है? उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने 400 प्रश्न गलत पाए जाने के बाद पिछले साल सितंबर में आयोजित सहायक लेखाकार भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया है। इस बारात में 400 सवाल थे, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद परीक्षा रद्द कर दी गई|

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने 5 फरवरी 2021 को सहायक समीक्षा अधिकारी, लेखाकार, सहायक लेखाकार, कैशियर, लेखा परीक्षक, कार्यालय सहायक के 662 पदों पर भर्ती के लिए 5 फरवरी को अधिसूचना जारी की थी और 23 हजार उम्मीदवारों ने आवेदन किया था| परीक्षा सितंबर में आयोजित की गई थी और परीक्षा के बाद हजारों उम्मीदवारों ने पूछे गए सवालों को लेकर बड़े सवाल उठाए और आयोग से शिकायत की|

अभ्यर्थियों के बढ़ते आंदोलन को देखते हुए आयोग ने विशेषज्ञों से प्रश्नपत्रों का निरीक्षण करवाया, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद परीक्षा रद्द कर दी गई| आपको बता दें कि 23 हजार उम्मीदवारों ने आवेदन किया था और आवेदन की जांच के बाद 18,640 उम्मीदवारों को इस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी किए गए थे| ऑनलाइन परीक्षा के लिए देहरादून में छह, नैनीताल में चार, हरिद्वार में तीन, पौड़ी गढ़वाल में दो, चमोली, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, चंपावत और बागेश्वर में एक-एक परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं|

ऑनलाइन परीक्षा 12 से 14 सितंबर 2021 तक छह पालियों में आयोजित की गई थी जिसमें 3 दिन की परीक्षा में 9,341 उम्मीदवार शामिल हुए थे। परीक्षा के बाद सभी परीक्षार्थियों ने परीक्षा के सभी पालियों के प्रश्न पत्रों की जांच के लिए विरोध करना शुरू कर दिया, काफी हंगामे के बाद आयोग ने विशेषज्ञों की राय लेने का फैसला किया और सभी प्रश्न पत्रों की जांच की, तो कई प्रकार के प्रश्न थे | सामने आई त्रुटियों को उजागर करते हुए उन्होंने 2 दिन पहले आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंपी और उसमें 400 प्रश्न गलत पाए गए|

About Vaibhav Patwal

Haldwani news