Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / अल्मोड़ा में छुट्टी पर आया सेना का जवान, तिरंगे में लिपट कर गया वापस

अल्मोड़ा में छुट्टी पर आया सेना का जवान, तिरंगे में लिपट कर गया वापस

हाल ही में अल्मोड़ा क्षेत्र से एक बुरी खबर आ रही है, यहां सेना का एक जवान छुट्टी पर घर आया लेकिन अचानक उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि युवक की तबीयत बिगड़ गई थी। उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की, जिससे उनके परिजन तुरंत जवान को अस्पताल ले गए, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही जवान की मौत हो गई. इस घटना से परिवार में कोहराम मच गया है। गांव में मातम छाया है।

सैनिकों का अंतिम संस्कार किया गया और वहां मौजूद सभी लोगों ने देखा और उधर आंखें उन्हें याद करके रो रही थीं और भावुक हो रही थीं। हर आँख नम थी। जानकारी के मुताबिक सूबेदार चंदन सिंह 9 कुमाऊं रेजीमेंट में तैनात थे. इन दिनों उनकी ड्यूटी चंदन सिंह की ड्यूटी लखनऊ में थी। 30 अप्रैल को वे छुट्टी पर अपने घर लौटे, लेकिन किसे पता था कि ये छुट्टियां चंदन सिंह की जिंदगी की आखिरी छुट्टियां साबित होंगी. दुर्भाग्य से इसी दौरान कार्डियक अरेस्ट से उनकी मौत हो गई।

29 मई को सूबेदार चंदन सिंह ड्यूटी पर लौटे, लेकिन ड्यूटी पर जाने से पहले ही सूबेदार चंदन सिंह ने शाम करीब 6 बजे अचानक सीने में दर्द की शिकायत की, उन्हें निजी वाहन से सीएचसी भिकियासैंण ले जाया गया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चंदन सिंह की मौत की खबर जब घर पहुंची तो घर में कोहराम मच गया और सिपाही की अचानक हुई मौत से सभी सदमे में हैं|

रानीखेत केआरसी से सेना के जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया। उनके बेटे संजय ने उनके पिता के शव को जलाया और सैनिकों ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर सूबेदार को अंतिम विदाई दी. सूबेदार चंदन सिंह अपने पीछे 20 वर्षीय पुत्र संजय, 19 वर्षीय पुत्री तान्या और पत्नी सविता देवी को छोड़ गए हैं। अचानक हुई इस घटना के बाद इलाके में मातम छाया है. क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने भी दुख जताया और आत्मा के लिए प्रार्थना की|

About Vaibhav Patwal

Haldwani news