Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / केदारनाथ में भगवान का घर ही नहीं सुरक्षित, भैरव नाथ मंदिर में हुई चोरी पुरोहितो में रोष

केदारनाथ में भगवान का घर ही नहीं सुरक्षित, भैरव नाथ मंदिर में हुई चोरी पुरोहितो में रोष

उत्तराखंड में एक अजीबोगरीब मामला सामने आ रहा है. इस घटना के बाद साफ है कि भगवान के ‘घर’ होने पर भी इंसान सुरक्षित नहीं है। देवस्थल-मंदिर चोरों और असामाजिक तत्वों के निशाने पर हैं। मंदिरों में चोरी की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। ताजा मामला रुद्रप्रयाग स्थित प्रसिद्ध केदारनाथ धाम का है। जहां भुकुंत भैरवनाथ मंदिर की दान पेटी से पैसे चोरी हो गए। घटना पर आक्रोश जताते हुए पुजारियों ने अराजक तत्वों के खिलाफ पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करायी है|

पंच पांडा रुद्रपुर केदारनाथ के अध्यक्ष अमित शुक्ला और सचिव पंकज शुक्ला ने पुलिस को तहरीर दी कि भुकुंत भैरवनाथ मंदिर में पंच पांडा समाज द्वारा एक दान पेटी रखी जाती है, जिसमें श्रद्धालु अपना प्रसाद चढ़ाते हैं. शनिवार को जब वह दर्शन के लिए मंदिर पहुंचे तो दान पेटी का ताला टूटा मिला।

साथ ही दान पेटी में रखी राशि भी गायब थी। उन्होंने पुलिस से मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने इलाके में सुरक्षा बढ़ाने को भी कहा, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं को होने से रोका जा सके. आपको बता दें कि उत्तराखंड के मंदिरों में चोरी का यह पहला मामला नहीं है। लगातार ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं, जिससे भक्तों में रोष है|

पूर्व में भी केदारनाथ में सर्दी के मौसम में चोरी का मामला चर्चा में रहा था। सर्दी के बाद जब लोग केदारघाटी में अपने घरों को पहुंचे तो घरों के ताले टूटे मिले। जरूरी सामान चोरी हो गया था। मामले की सूचना पुलिस को दी गई तो पुलिस ने भालू को इसके लिए जिम्मेदार ठहराकर अपनी ड्यूटी खत्म कर दी थी। कहा कि भालू घरों में चोरी कर रहा है इस अजीबोगरीब तर्क के लिए रुद्रप्रयाग पुलिस की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना भी हुई थी।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news