Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / पिथौरागढ़ के इन भाई बहन का प्यार देख कर भर आएगा आपका भी दिल, अपनी दिव्यांग बहन को पालकी पर बिठा कर लया एग्जाम सेंटर

पिथौरागढ़ के इन भाई बहन का प्यार देख कर भर आएगा आपका भी दिल, अपनी दिव्यांग बहन को पालकी पर बिठा कर लया एग्जाम सेंटर

इंसान का हर रिश्ता उसके लिए बहुत कीमती होता है। इसमें भाई-बहन का रिश्ता दुनिया के सबसे खूबसूरत रिश्तों में से एक है। इसमें प्रेम है तो संघर्ष भी है। छोटी-छोटी बातों पर झगड़ने वाले भाई की आंखें बहन की विदाई में चमक उठती हैं। लड़कों का सबके सामने रोना आज भी हमारे समाज में वर्जित है लेकिन आज हम आपको पिथौरागढ़ का एक ऐसा ही वीडियो दिखाएंगे। जिसे देख आपकी आंखें भर आएंगी।

हाल ही में उत्तराखंड के पहाड़ी गांव से दो भाई-बहन का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इन भाइयों की सोच पर आपको गर्व महसूस होगा, दिल इन्हें सलाम करना चाहेगा। ये है खबर पिथौरागढ़ की, जहां एक भाई अपनी बहन को डोली पर बिठाकर स्कूल ले जाता है, ताकि वह परीक्षा दे सके. जीवन में कुछ भी हो सकता है। चमाली गांव की एक बेटी संजना हाई स्कूल में पढ़ती है। उनका परीक्षा केंद्र शैलकुमारी इंटर कॉलेज में है। संजना चलने-फिरने में असमर्थ होने के कारण संजना को परीक्षा देने के लिए कुर्सी से बनी पालकी में बैठाकर स्कूल ले आती है।

चमाली गांव पिथौरागढ़ मुख्यालय से करीब 28 किमी दूर है। संजना के भाई पारस और बड़ी बहन सान्या का परीक्षा केंद्र शैलकुमारी इंटर कॉलेज में पड़ा है. ऐसे में तीनों भाई-बहन परीक्षा केंद्र से करीब आधा किमी दूर किराए के कमरे में रह रहे हैं| पारस अपने चचेरे भाई आकाश की मदद से बहन की परीक्षा कराने के लिए उसे पालकी में स्कूल ले आता है।

पारस का कहना है कि उनकी बहन शिक्षा प्राप्त कर टीचर बनना चाहती है। वह अपनी बहन के सपने को पूरा करने के लिए अपनी जान कुर्बान कर देगा। संजना जैसी बहनें वास्तव में खुशकिस्मत हैं कि उन्हें पारस की तरह सोचने वाले भाई मिले। पारस का पिथौरागढ़ चमाली गांव में बहन संजना को पालकी से स्कूल ले जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

About Vaibhav Patwal

Haldwani news