Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / बढ़ती गर्मी से पहाड़ी जिलों को ज्यादा नुक्सान, मौसम विभाग ने जारी किया 9 दिन का अलर्ट

बढ़ती गर्मी से पहाड़ी जिलों को ज्यादा नुक्सान, मौसम विभाग ने जारी किया 9 दिन का अलर्ट

गर्मी पूरी तरह से नहीं आई है और अभी अप्रैल का पहला हफ्ता है लेकिन तापमान उत्तराखंड में रिकॉर्ड बना रहा है। बढ़ती गर्मी ने बेचैनी बढ़ानी शुरू कर दी है। उत्तराखंड में लू का अलर्ट है और इसके बाद उत्तर भारत में यह लहर कुछ देर तक जारी रहेगी। इस समय पहाड़ और मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है। चिलचिलाती धूप ने लोगों को घरों में कैद रहने को विवश कर दिया है। अगले चार दिनों तक उत्तराखंड में न केवल मैदानी इलाकों में बल्कि पहाड़ी इलाकों में भी भीषण गर्मी पड़ने की संभावना है. मौसम विभाग ने 9 अप्रैल से 12 अप्रैल तक रेड अलर्ट जारी कर तापमान सामान्य से काफी अधिक रहने की आशंका जताई है|

तापमान में वृद्धि के कारण एक बार फिर पहाड़ी क्षेत्रों द्वारा भुगतान की जाने वाली लागत, यहाँ बर्फ पिघलने का जोखिम बहुत अधिक है और हिमस्खलन की संभावना बढ़ गई थी। जंगल में आग लगने की घटनाएं भी बढ़ेंगी। भीषण गर्मी से फसलों और सब्जियों को नुकसान होने की आशंका है. 9 से 12 तारीख तक उत्तरकाशी, टिहरी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल और चंपावत जैसे पहाड़ी जिलों में तापमान सामान्य से काफी ऊपर रहने की संभावना है|

मौसम विभाग ने पहले ही इन इलाकों के लिए रेड अलर्ट जारी कर दिया है। गर्मी का असर फलों और सब्जियों की खेती पर दिखेगा। पहाड़ी जिलों में कुछ स्थानों पर जंगल में आग की घटनाएं भी बढ़ सकती हैं। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों में उच्च हिमालयी क्षेत्रों (3500 मीटर से अधिक) में बर्फ पिघलने से हिमस्खलन का खतरा है।

किसानों को भीषण गर्मी से फसल को नुकसान से बचाने के लिए नियमित रूप से सिंचाई करने की सलाह दी गई है। इस साल मार्च के महीने में भी राज्य में भीषण गर्मी और लू की स्थिति बनी रही। हिमालयी क्षेत्रों में तापमान भी तेजी से बढ़ रहा है। तापमान बढ़ने के साथ जंगल में आग की घटनाएं भी बढ़ गई हैं। अगले चार दिनों तक गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं हैं।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news