Breaking News
Home / हल्द्वानी न्यूज़ / हल्द्वानी में गुलदार पकड़ने खुद आगे आये सद्म साहेब, 3 लोग हुए जख्मी

हल्द्वानी में गुलदार पकड़ने खुद आगे आये सद्म साहेब, 3 लोग हुए जख्मी

राज्य में जंगली जानवरों और इंसानों के बीच मुठभेड़ तेजी से बढ़ रही है। गुलदार और सूअर, और भालू जैसे जानवर कस्बों में आ रहे हैं और स्थानीय लोगों को आतंकित कर रहे हैं। ऐसा ही नजारा नैनीताल के हल्द्वानी क्षेत्र में देखने को मिलता है। बीते दिन तेंदुए को पकड़ने के लिए पूरा प्रशासनिक अमला यहां जमा हो गया। इस बार एसडीएम मनीष सिंह भी तेंदुए को पकड़ने के लिए मैदान में उतरे। इसके बाद उन्हें एक छत से पत्थर फेंकते देखा गया। तेंदुआ पकड़ने का अभियान दिन भर चलता रहा। जिसमें तीन वनकर्मी घायल हो गए। हालांकि घंटों मशक्कत के बाद आखिरकार तेंदुए को पकड़ लिया गया। घटना आनंदपुर इलाके की है।

हाल ही में रामपुर रोड पर हरिपुर कुंवर सिंह द्वारा सोमवार सुबह क्षेत्र में एक तेंदुए को देखा गया। तेंदुआ गेहूं के खेत में छिपा था। बाद में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। एक होमगार्ड वन्य जीव की पहचान के लिए खेत में पहुंचा तो तेंदुआ उस पर झपट पड़ा। इसके बाद होमगार्ड पर हमला होते ही मौके पर कोहराम मच गया। सूचना मिलने पर परिहार की टीम के साथ रेंजर तनुजा मौके पर पहुंची|

इस टीम में फॉरेस्टर, फॉरेस्ट गार्ड और होमगार्ड शामिल हैं, जिनमें से कई तेंदुए को पकड़ने की कोशिश में घायल हो गए थे। दिन भर की मशक्कत के बाद वन विभाग ने तेंदुए को पकड़कर शांत कराया। इस दौरान प्रशासनिक अमले के वरिष्ठ अधिकारी एसडीएम मनीष सिंह छत से तेंदुए पर पथराव करते दिखे, ताकि तेंदुआ मजबूर होकर खेत से बाहर निकल सके और जाल में फंस सके।

कुछ देर बाद वनकर्मियों की टीम उस घूस पर पहुंच गई जहां तेंदुआ छिपा हुआ था। डॉक्टरों ने एक तरफ से मुंह बंद करने के बाद दूसरी तरफ से ट्रैंक्विलाइज गन का इस्तेमाल किया। कुछ देर चलने के बाद कहीं तेंदुआ बेहोश हो गया। नर तेंदुए को रानीबाग रेस्क्यू सेंटर लाया गया है। जहां स्वास्थ्य परीक्षण के बाद उसे जंगल में छोड़ने का फैसला लिया जाएगा।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news