Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / अब और भी आसान हुआ सुरकुण्डा देवी के दर्शन, नवरात्री पर उत्तराखंड के शक्तिपीठ को मिला रोपवे का तोहफा

अब और भी आसान हुआ सुरकुण्डा देवी के दर्शन, नवरात्री पर उत्तराखंड के शक्तिपीठ को मिला रोपवे का तोहफा

भक्तों के लिए खास है यह नवरात्रि नवरात्रि के पावन अवसर पर सभी भक्तों के लिए एक खुशखबरी है। टिहरी स्थित प्रसिद्ध सिद्धपीठ सुरकंडा देवी मंदिर के दर्शन आसान हैं। भक्तों की यात्रा रोमांचक होने वाली है, क्योंकि अब वे रोपवे के जरिए मंदिर पहुंच सकेंगे। अब जिन लोगों को 5 किलोमीटर की पैदल यात्रा करने में परेशानी होती है, वे अब रोपवे से जा सकते हैं। सिद्धपीठ सुरकंडा देवी मंदिर सुरकुटा पर्वत पर स्थित है। मंदिर के दर्शन के लिए भक्तों को कद्दुखल से डेढ़ किमी की चढ़ाई करनी पड़ती है। लंबे समय से निर्माणाधीन रोपवे का काम लगभग पूरा हो चुका है।

गुरुवार को पुल के इंजीनियरों ने अंतिम तकनीकी निरीक्षण किया और इसे सभी मापदंडों के अनुपालन में पाया। अब रोपवे शुरू करने के लिए प्रशासन की ओर से हरी झंडी का इंतजार है। रोपवे का उद्घाटन सीएम करेंगे। इस उड़ान खटोला सेवा के शुरू होने के बाद देवी के भक्त कद्दुखल से पांच मिनट का सफर तय कर मंदिर पहुंच सकेंगे।

सुरकंडा देवी के दर्शन के लिए साल भर भक्तों की भीड़ लगी रहती है। करीब 2800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित मंदिर तक पहुंचने के लिए डेढ़ किमी की खड़ी चढ़ाई चढ़नी पड़ती है। वर्ष 2015-16 में नि:शक्तजनों, विकलांगों एवं बच्चों की समस्या को ध्यान में रखते हुए तथा अन्य श्रद्धालुओं की राह आसान करने के लिए पर्यटन विभाग ने यहां सार्वजनिक-निजी भागीदारी में 32 करोड़ रुपये की लागत से रोपवे के निर्माण को मंजूरी दी थी|

इस रोपवे में 16 ट्रॉलियां हैं जिन्हें 525 मीटर लंबे रोपवे में छह टावरों की मदद से चलाया जाएगा। एक केबिन में एक बार में छह लोग ही सफर कर सकेंगे, जिससे एक बार में 96 लोग एक साथ सफर कर सकें। रोपवे का ट्रायल हाल ही में मंदिर तक आसानी से पहुंचने में सफल रहा था। तकनीकी जांच भी पूरी कर ली गई है। अधिकारियों ने बताया कि तकनीकी जांच में रोपवे को सही पाया गया है. सब कुछ ठीक रहा तो सीएम पुष्कर सिंह धामी इस नवरात्रि में सुरकंडा देवी रोपवे का उद्घाटन कर सकते हैं।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news