Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड STF ने UKSSSC सहायक एलटी परीक्षा 2019 के जालसाज को किया गिरफ्तार , एक अभी भी फरार

उत्तराखंड STF ने UKSSSC सहायक एलटी परीक्षा 2019 के जालसाज को किया गिरफ्तार , एक अभी भी फरार

उत्तराखंड एसटीएफ ने लंबे समय के बाद सफलता हासिल की है, उन्होंने 3 साल से फरार नकल माफिया शिक्षक को सफलतापूर्वक गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी शिक्षक एक दिवसीय परीक्षा के लिए सॉल्वर गैंग चला रहा था। एसटीएफ की टीम ने उसे अमरोहा जिले के गजरौला थाना क्षेत्र से पकड़ा. कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपी को जेल भेज दिया गया। इस मामले का एक अन्य आरोपी अभी फरार है, उसकी तलाश की जा रही है। यहां भी पूरा मामला बताया गया है।

घटना वर्ष 2019 की है। जब उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने सहायक शिक्षक एलटी और कनिष्ठ सहायक डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद के लिए लिखित परीक्षा आयोजित की थी। इसमें 22 लोगों के फर्जी अभ्यर्थियों के माध्यम से परीक्षा देने का मामला सामने आया था। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षा में फर्जीवाड़े का सिलसिला फार्म भरने के साथ ही शुरू हो गया। 22 लोगों के आवेदन फॉर्म लगभग एक साथ भरे गए, जिसमें सभी एक ही ई-मेल आईडी का इस्तेमाल कर रहे थे। मामला संज्ञान में आने के बाद आयोग ने सभी 22 लोगों के नतीजे रोक दिए थे।

जांच में पता चला कि फर्जी अभ्यर्थियों का गिरोह का सरगना विजयवीर पुत्र खाचेदु है जो कि जलालपुर अमरोहा निवासी है. वह प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल करने के लिए फर्जी उम्मीदवारों को भेजता था। पुलिस पिछले दो साल से आरोपी विजयवीर की तलाश कर रही थी, लेकिन वह पकड़ा नहीं गया। पुलिस ने आरोपितों पर पांच हजार के इनाम की भी घोषणा की थी। सोमवार को एसटीएफ ने विजयवीर को इंद्रा चौक गजरौला से गिरफ्तार किया।

आरोपी विजयवीर अमरोहा जिले के शासकीय जूनियर हाई स्कूल अफजलपुरलूट रजबपुर में सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत था। STF SSP अजय सिंह ने बताया कि साल 2019 में विजयवीर और उसके एक सहयोगी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. इसमें विजयवीर पकड़ा गया है। एसटीएफ बदमाशों पर शिकंजा कस रही है। पुलिस अब तक 5 बदमाशों को गिरफ्तार कर चुकी है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news