Breaking News
Home / अजब गज़ब / बचपन में ही काम डाले करोड़ रुपये, घर पर ही तलाशी कोडिंग और आज करता है ट्रेडिंग

बचपन में ही काम डाले करोड़ रुपये, घर पर ही तलाशी कोडिंग और आज करता है ट्रेडिंग

यह कहना गलत नहीं है कि तकनीक अपने चरम पर पहुंच रही है और हर कोई इसका भरपूर उपयोग कर रहा है। आज के छोटे बच्चे भी वयस्कों की तरह तकनीक का उपयोग करने की अधिक संभावना रखते हैं, वे कंप्यूटर और डिजिटल दुनिया से जुड़े हुए हैं। आज टेक्नोलॉजी के बढ़ते दायरे और भविष्य के साथ कोडिंग जैसे विषय स्कूली जीवन से ही पढ़ाए जा रहे हैं। अब इतनी कम उम्र में इस बात पर मतभेद हो सकता है कि कोडिंग जैसे विषयों को पढ़ाया जाना चाहिए या नहीं। हालांकि लंदन का एक 12 साल का लड़का जिसने इस तरह से कोडिंग सीखी वह इस समय दुनिया में चर्चा का विषय है।

एक ऐसी खबर सामने आ रही है जहां एक 12 साल के लड़के का नाम बेंजामिन अहमत है। इस बच्चे ने इमोनजी नाम के कंप्यूटर पर वायर्ड वेल्स नाम से एक पिक्सेल आर्टवर्क बनाया है। इससे उन्होंने 2 करोड़ रुपए कमाए हैं। इन कलाकृतियों को अपूरणीय टोकन यानी एनएफटी द्वारा खरीदा जाएगा। काम को बेंजामिन द्वारा कल्पना की गई कला का एक रचनात्मक डिजिटल काम कहा जाता है। इस कलाकृति में रचनात्मक अवधारणा के कारण इतना पैसा दिया गया था।

अगर हम एनएफटी को ठीक से समझ लें तो यह डिजिटल दुनिया में एक ऐसा निवेश है जिस पर लोग काम कर रहे हैं। कुछ ऐसा बनाना जो पहले किसी के द्वारा नहीं किया गया हो या ऐसा कुछ जिस पर केवल एक ही व्यक्ति का अधिकार हो या दुनिया में केवल एक ही हो। ऐसी चीजें बनाई और बेची जाती हैं। उदाहरण के लिए समझें कि यदि आपके पास एक टी-शर्ट है लेकिन उस प्रकार की टी-शर्ट पूरी दुनिया में कई हो सकती है।

लेकिन अगर आप उस टी-शर्ट पर किसी बड़े सेलेब्रिटी का ऑटोग्राफ लें तो वो टी-शर्ट पूरी दुनिया में एक जैसी हो जाती है। लोग इस तरह की चीजें अरबों में खरीद रहे हैं और फिर उन्हें खरीद और बेच रहे हैं। इस शख्स ने बनाई डिजिटल तस्वीर जो 3 करोड़ रुपये में बिकी। एनएफटी की दौलत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अमिताभ बच्चन जैसे लोगों ने भी इसमें निवेश किया है।

कोडिंग के अलावा बेंजामिन को तैरना, बैडमिंटन और ताइक्वांडो खेलना पसंद है। वह अपना समय इन तीन चीजों में और बाकी समय कोडिंग में बिताते हैं। बेंजामिन के अनुसार, यदि कोई बच्चा कोडिंग के क्षेत्र में प्रवेश करना चाहता है, तो उसे अपने माता-पिता के दबाव में ऐसा निर्णय नहीं लेना चाहिए। प्राप्त जानकारी के अनुसार क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू कमोबेश एक जैसी हो सकती है|

About Vaibhav Patwal

Haldwani news