Breaking News
Home / अजब गज़ब / बेटे की शिक्षा के लिए मां ने बेचे सोने के जेवर, पढ़ाई पूरी करने के बाद सबसे पहले मां की कब्र पर गया

बेटे की शिक्षा के लिए मां ने बेचे सोने के जेवर, पढ़ाई पूरी करने के बाद सबसे पहले मां की कब्र पर गया

माँ हमें ईश्वर का दिया हुआ वह अमूल्य वरदान है जिसका कोई विकल्प नहीं है, जिसका कर्ज हम जीते जी कभी नहीं चुका सकते। ऐसा कहा जाता है कि अगर हमारे जीवन में कोई समस्या चल रही है तो केवल माँ ही उसे बिना बताए समझ सकती है। दोस्तों आज एक ऐसी ही खबर सोशल मीडिया पर सामने आ रही है। जिसमें एक लड़का अपनी मां की कब्र के पास खड़ा है. जिसकी माँ ने उसे अपने सारे सोने के गहने बेचकर सिखाया|

यूनिवर्सिटी में दाखिले आया तो मां ने पति की निशानी के तौर पर हाथ की अंगूठी भी बेच दी थी। और बेटे के लिए अपनी माँ को दिखाने का समय आ गया है कि उसने अपनी पढ़ाई सफलतापूर्वक पूरी कर ली है, उसकी माँ ने दुनिया छोड़ दी। बेटे को यूनिवर्सिटी में दाखिला दिलाने के लिए मां ने बेची थी सोने की अंगूठी, आज उस बेटे को यूनिवर्सिटी में गोल्ड मेडल मिला है|

लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है उनकी मां इस दुनिया में नहीं हैं, बेटे ने मां की कब्र पर जाकर अपने गोल्ड मेडल के साथ तस्वीर शेयर की. अल्लाह उनकी मां को सलामत रखे। और इस बेटे को सफलता दो ताकि वह अपनी मां का सपना पूरा कर सके। यह ज्ञात है कि इस्लाम ही एकमात्र ऐसा धर्म है जो इस दुनिया में बहुत तेजी से बढ़ रहा है और एक रिपोर्ट के अनुसार कहा गया है कि अगर इस्लाम इस दर से बढ़ता रहा तो यह सबसे तेजी से बढ़ने वाला धर्म होगा|

लोग इस्लाम को स्वीकार करते रहेंगे, फिर कुछ ही वर्षों में इस्लाम दुनिया का सबसे बड़ा धर्म है। “फ्रांस के सैंड्रिन वाल्थर और उनकी बेटी रेबेका ने अपने मुस्लिम पड़ोसियों की अच्छी देखभाल करने के बाद इस्लाम स्वीकार कर लिया। इन दोनों मां-बेटियों ने तुर्की में इस्लाम कबूल किया, आपको बता दें कि ये दोनों मां-बेटी एक साथ रहती हैं। उनके पड़ोसी एक मुस्लिम समुदाय से हैं, लेकिन जब वे उनसे मिलने लगे, तो उन्हें इस्लाम के बारे में पता चला, उन्हें इस्लाम की सुंदरता के बारे में पता चला, फिर दोनों ने इस्लाम स्वीकार करने का फैसला किया।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news