Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / रुद्रप्रयाग के शिक्षक ने रोशन किया प्रदेश का नाम, राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीता मेडल

रुद्रप्रयाग के शिक्षक ने रोशन किया प्रदेश का नाम, राष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीता मेडल

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के रहने वाले विज्ञान शिक्षक हेमंत चेकियाल ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता जीतकर प्रदेश का मान बढ़ाया है। हेमंत चोकियाल साराभाई शिक्षक वैज्ञानिक राष्ट्रीय पुरस्कार में सुरक्षित तीसरा स्थान प्राप्त करने में सक्षम हैं। शिक्षक चाकियाल को राष्ट्रीय शिक्षक वैज्ञानिक परिषद के अध्यक्ष डॉ. चंद्रमोली जोशी और एनसीटीएस के राष्ट्रीय सचिव संदीप डी. पाटिल ने पुरस्कृत किया।

उन्हें स्वर्ण पदक, एक ई-प्रशस्ति पत्र और 2,000 रुपये के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। हेमंत चकियाल रौप्रव गुनाऊ के डांगी गांव में काम करते हैं। उनकी यह उपलब्धि कई मायनों में खास है। प्रतियोगिता में राष्ट्रीय प्रतियोगिता के पहले दौर में देश भर से 18 हजार से अधिक शिक्षकों ने भाग लिया। प्रतियोगिता राष्ट्रीय स्तर पर तीन चरणों में आयोजित की जाती है। जिसमें हेमंत चोकियाल शीर्ष सौ शिक्षकों की सूची में 63वें स्थान पर थे। इस तरह उन्होंने दूसरे चरण की प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई कर लिया।

इस तरह उन्होंने दूसरे चरण की प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई कर लिया। दूसरे चरण में, उसने शीर्ष दस में 5 वां रैंक हासिल किया और तीसरे चरण का हिस्सा बन गया।

अंतिम दौर में उन्होंने कक्षा 6 से 8 तक के शिक्षकों की श्रेणी में तीसरा स्थान हासिल किया है। वह न केवल राज्य से बल्कि उत्तर भारत से भी एकमात्र शिक्षक हैं, जिन्हें राष्ट्रीय स्तर पर यह गौरव प्राप्त हुआ है। हेमंत चोकियाल पिछले तीन दशकों से बच्चों में विज्ञान की अवधारणाओं की समझ को मजबूत करने के कार्य में लगे हुए हैं। वह छोटे-छोटे प्रयोगों के जरिए बच्चों को विज्ञान पढ़ाते हैं।

पिछले पांच वर्षों से अधिक समय से, हेमंत ने हिंदी (भाषा), अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान जैसे विषयों को समझाने के लिए बच्चों के साथ छोटे-छोटे आवेदन किए हैं। कक्षा में इन प्रयोगों के माध्यम से वे विद्यार्थियों में विज्ञान की समझ बढ़ाने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। अब उन्होंने राष्ट्रीय पुरस्कार जीतकर उत्तराखंड को गौरवान्वित किया है। राज्य समीक्षा दल की ओर से शिक्षक हेमंत चेकियाल को बहुत बहुत बधाई।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news