Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / नहीं खुले स्कूल, बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह से 31 जनवरी तक ऑनलाइन क्लास

नहीं खुले स्कूल, बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह से 31 जनवरी तक ऑनलाइन क्लास

उत्तराखंड में कोरोना वायरस की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सरकार ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कोविड पाबंदियों की अवधि 31 जनवरी तक बढ़ा दी है. इसके लिए राज्य के सभी शिक्षण संस्थानों को 31 जनवरी तक बंद रखा गया है. इसके साथ ही रैलियों और धरना प्रदर्शनों पर भी रोक लगा दी गई है. सरकार का कहना है कि शिक्षण संस्थानों में 31 जनवरी तक ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। बता दें कि राज्य में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए राज्य में शनिवार तक के लिए पाबंदियां लगाई गई थीं।

इसके बावजूद कोरोना की रफ्तार कम नहीं हो रही है, जिसके बाद पाबंदियां 31 जनवरी तक बढ़ा दी गई हैं। नई गाइडलाइंस कल जारी की गई है। इसके तहत राज्य में रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू जारी रहेगा. 31 जनवरी तक आंगनबाडी से लेकर 12वीं तक के सभी सरकारी निजी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे और ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी।

दूसरी ओर शादी समारोह में बुलाए गए अतिथि की क्षमता 50% तक कम हो जाती है। स्विमिंग पूल, वाटर पार्क 31 जनवरी तक बंद रहेंगे। शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्तरां, सिनेमा हॉल, ढाबे, स्पा, सैलून, थिएटर, खेल संस्थान और स्टेडियम 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे। रैली प्रदर्शन, रोड शो जैसे कार्यक्रम नहीं होंगे। उत्तराखंड में एक्टिव मरीजों की संख्या 31 हजार को पार कर गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि इस बार ज्यादातर मरीज घर पर ही ठीक हो रहे हैं और उन्हें अस्पताल ले जाने का समय नहीं है।

दरअसल, दूसरी लहर में जिस तरह से डेल्टा वेरिएंट घातक साबित हुआ, उसकी तुलना में इस वेरिएंट का असर काफी कम है और लोग घर पर इलाज कराकर ठीक हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक सरकारी और निजी अस्पतालों में करीब 520 मरीजों को भर्ती किया जा रहा है जबकि 28,500 से ज्यादा संक्रमितों को होम आइसोलेशन में रखा गया है. उत्तराखंड कोरोनावायरस का नया रूप अधिक घातक साबित नहीं हो रहा है और हल्के लक्षणों से संक्रमित घर पर ठीक हो रहे हैं।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news