Breaking News
Home / अजब गज़ब / क्यो नही होता होटलों में कमरा नंबर 13, किस वजह से नहीं बनाया गया था चंडीगढ़ में सेक्टर 13

क्यो नही होता होटलों में कमरा नंबर 13, किस वजह से नहीं बनाया गया था चंडीगढ़ में सेक्टर 13

अगर आपको बहुत घूमने की आदत है और आप इसके लिए होटल में रुकते हैं तो आपने एक बात जरूर नोटिस की होगी। कि कोई कमरा नहीं है। होटल में 13. हाँ यह सच है। आज हम इसके पीछे का कारण जानेंगे। दरअसल पश्चिमी देशों में 13 अंक को अशुभ माना जाता है। वहां के लोग 13 नंबर को लेकर काफी डरे हुए हैं। इसलिए पश्चिमी होटलों में न तो कमरा नंबर 13 है और न ही 13वीं मंजिल। 12वीं के बाद हम सीधे 14वीं मंजिल पर आते हैं। पश्चिमी देशों को देखें तो भारत के होटलों में कमरा नंबर 13 नहीं है।

कुछ रिपोर्ट्स और आंकड़ों के मुताबिक, एक बार यीशु को किसी ने धोखा दिया था और वह वही शख्स था जो उसके साथ बैठकर खाना खाया करता था। देशद्रोही 13 नंबर की कुर्सी पर बैठा था। इस घटना के बाद यूरोप और अमेरिका समेत कई देशों में 13 नंबर को अशुभ माना जाने लगा और लोग 13 नंबर से दूर रहने लगे|

देखने के बाद कि पश्चिमी देशों में 13 नंबर के कमरे या फ्लैट नहीं हैं, वही चलन भारत में भी कॉपी किया जाता है। इसलिए भारत में होटल ऐसा करते हैं। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि भारत में ज्यादातर होटल विदेशी पर्यटकों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। इसलिए यहां के होटल में कमरा नंबर 13 नहीं बनाया गया है. वैज्ञानिक ने इस डर को ट्रिस्काइडेकाफोबिया करार दिया, जो कि 13 नंबर से आने वाला डर है। वहीं अगर फ्रांस की बात करें तो वहां डाइनिंग टेबल पर 13 कुर्सियों का होना अशुभ माना जाता है।

जो कि हम तीसरे नंबर को अशुभ मानते हैं। इतना ही नहीं, चंडीगढ़ भारत का एक ऐसा शहर है जहां सेक्टर 13 नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जिसने शहर का नक्शा तैयार किया वह विदेशी था और वह 13 नंबर को अशुभ मानता था। चंडीगढ़ में आज भी सेक्टर 13 नहीं है।

About Vaibhav Patwal

Haldwani news