Breaking News
Home / अजब गज़ब / लखनऊ निवासी रातों-रात करोड़पति बना, तुरंत बुक करी XUV अब जेल में कट रही रातें

लखनऊ निवासी रातों-रात करोड़पति बना, तुरंत बुक करी XUV अब जेल में कट रही रातें

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पैसा आजकल एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और वर्तमान समय में सभी के लिए आवश्यक है। बिना पैसे के कोई भी काम संभव नहीं है। लोग पैसा कमाने के लिए दिन-रात मेहनत करते हैं ताकि उन्हें जो चाहिए वो मिल सके। लोग अपनी मेहनत की कमाई को अपने भविष्य के लिए सहेजते हैं ताकि जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल कर सकें। वैसे आज के समय में धोखाधड़ी जैसे मामले दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं|

अक्सर देखा जाता है कि ठगी के ऐसे कई मामले सुनने और देखने को मिलते हैं, जिसे जानकर हर कोई हैरान है| आजकल बैंक धोखाधड़ी से जुड़े कई मामले भी सामने आ रहे हैं। इसी बीच लखनऊ में धोखाधड़ी का एक अनोखा मामला सामने आया है जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे|

दरअसल, लखनऊ में अकाउंट से कुछ ठगी करके एक शख्स रातों-रात करोड़पति बन गया। जी हां, आप बिल्कुल सही सुन रहे हैं, यहां सेंट्रल बैंक की बंथरा शाखा के खाताधारक करण शर्मा रातों-रात करोड़पति बन गए। दरअसल, इसके पीछे की वजह तकनीकी खराबी है, जिससे उनका खाता सर्वर से जुड़ गया और उनके खाते में एक करोड़ रुपये से ज्यादा जमा हो गए|

अचानक इतने पैसे मिलने की खुशी में करण शर्मा ने जमकर खरीदारी की और 76 लाख रुपये शॉपिंग में खर्च कर दिए| तो आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला। प्राप्त जानकारी के अनुसार करण शर्मा गांव कंचनपुर सिरविया, लखनऊ का रहने वाला है| करण शर्मा का लखनऊ में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की बंथरा शाखा में खाता है। करण शर्मा एक पेट्रोल पंप पर काम करता है। बताया जा रहा है कि करण शर्मा के खाते में सिर्फ 1983 रुपये थे| उसने 17 दिसंबर को डेबिट कार्ड से कुछ खरीदारी की थी, जब उसे पता चला कि उसके खाते में एक करोड़ रुपये से ज्यादा है।

करण शर्मा के खाते में जब एक करोड़ रुपये से ज्यादा की मोटी रकम आ गई तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वह पैसे से इतना खुश था कि उसने खरीदारी की। पैसे आने के बाद उसने पैसे को जमकर उड़ा दिया। बताया जा रहा है कि करण शर्मा ने एक एक्सयूवी कार और बाइक बुक की है। पत्नी के लिए आभूषण खरीदे।

बैंक मैनेजर को जैसे ही इस मामले की जानकारी मिली उन्होंने मामले की जांच की| इसके बाद उन्हें सूचना मिली कि खाता बैंक के सर्वर से लिंक है। इसके बाद अकाउंट को फ्रीज कर दिया गया। तब भी खाते में 41.21 लाख रुपए थे। इसकी शिकायत बैंक मैनेजर ने पुलिस से की थी। जिसके बाद पुलिस ने करण शर्मा और उनकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि खाताधारक के डेबिट कार्ड को बैंक के सर्वर से लिंक करने की बात खुद बैंक मैनेजर की समझ से बाहर है| उन्हें खुद समझ नहीं आ रहा है कि ये सब कैसे हो गया? इस मामले की जानकारी होने पर शाखा से लेकर मुख्यालय तक के अधिकारी हैरान हैं| अधिकारियों का कहना है कि बैंक की आंतरिक टीम तथ्यों की पुष्टि के लिए काम कर रही है|

About Vaibhav Patwal

Haldwani news