Breaking News
Home / उत्तराखंड न्यूज़ / उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों को प्रभावित करेगी शुष्क शीत लहर, जबकि पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी होगी

उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों को प्रभावित करेगी शुष्क शीत लहर, जबकि पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी होगी

मौसम विभाग की ओर से दी गई मौसम रिपोर्ट के मुताबिक उत्तराखंड में आज से हालात और गंभीर हो जाएंगे। पहाड़ी इलाकों में हिमपात से लोगों को पहाड़ की ओर भीषण ठंड का सामना करना पड़ेगा। आज राज्य के कई जिलों में बर्फबारी की संभावना है| जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड में येलो अलर्ट जारी किया गया है| चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में बर्फबारी से सर्दी बढ़ेगी। पश्चिमी विक्षोभ से मैदानी इलाकों के लोगों को भी राहत नहीं मिलेगी।

कोल्ड वेब से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ेगी और यह लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। मौसम विभाग ने पहाड़ी इलाकों के लिए एडवाइजरी जारी की है। हिमपात से सड़कें अवरुद्ध होने की संभावना है, और पाले के कारण दुर्घटना की संभावना बढ़ जाएगी और बिजली लाइनों को नुकसान पहुंचा सकती है, और ठंडी हवाएं चल सकती हैं। सरकार को इस संबंध में पर्याप्त व्यवस्था करने की सलाह दी गई है। वाहन चालकों को वाहन चलाते समय सावधानी बरतने को कहा गया है। आइए अब आपको मौसम के हाल के बारे में बताते हैं। मौसम केंद्र के मुताबिक 29 दिसंबर को कुमाऊं-गढ़वाल के पहाड़ी इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी की संभावना है|

उत्तराखंड में तीन हजार मीटर से ऊपर के इलाकों में बर्फबारी होगी| 29 दिसंबर को 2500 मीटर तक के इलाकों में भी हिमपात हो सकता है। उत्तराखंड में दोनों दिन हल्की बारिश हो सकती है। 30 दिसंबर को भी बागेश्वर, चमोली और पिथौरागढ़ जिलों के तहसील क्षेत्रों में परेशानी बढ़ेगी| ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। बाकी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा। खराब मौसम के कारण पहाड़ी इलाकों में जनजीवन मुश्किल हो गया है।

रविवार की शाम औली में हुई बर्फबारी के कारण जोशीमठ-औली मार्ग पर भारी पाला पड़ गया, जिससे मार्ग पर वाहनों का चलना मुश्किल हो रहा है| ऐसे में औली से पहले तीन किलोमीटर नीचे से वाहनों की कतार लग जाती है| लोग परेशान हैं। कई जगह जल संसाधन जम गए हैं। चमोली, पिथौरागढ़, मुनस्यारी जैसे ऊंचाई वाले इलाकों में ग्रामीण बर्फ को पिघलाकर अपने और मवेशियों के लिए पानी का इंतजाम कर रहे हैं| उत्तराखंड मौसम विभाग के मुताबिक, फिलहाल बर्फबारी से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है|

About Vaibhav Patwal

Haldwani news